सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

एक तरफ अयोध्या में राम दूसरी तरफ लंदन से भारत लौट रहे हैं भगवान शिव

22 साल बाद लंदन से घर लौट रहे भगवान शिव, चित्तौड़गढ़ से हुई थी मूर्ति चोरी

Anchal Yadav
  • Jul 30 2020 7:10PM
इसे संयोग ही कहेंगे कि छह दिन बाद उत्तर प्रदेश के अयोध्या में रामलला के मंदिर की आधारशिला रखी जा रही है। तो वहीं दूसरी तरफ नौवीं शताब्दी की भगवान शिव ( नटेश शिव ) नटराज की दुर्लभ मूर्ति लंदन से भारत आ रही है। यह मूर्ति 1998 में यानी 22 साल पहले राजस्थान के चित्तौड़गढ़ से चोरी हो गई थी।

बाद में इसे लंदन में बरामद कर लिया गया था। तब से इसे भारत लाने के प्रयास चल रहे थे। जिसमें आज सफलता मिल रही है । भगवान शिव की यह मूर्ति आज 22 साल बाद स्वदेश वापसी करेगी । गौरतलब है कि वर्ष 1998 में राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में घाटेश्वर मंदिर से भगवान शिव, नटेश शिव नटराज की दुर्लभ मूर्ति चोरी हो गई थी। यह मूर्ति नौवीं शताब्दी की परिहार राजवंश के समय में स्थापित हुई थी । तब से इस मूर्ति को ढूंढने के प्रयास चल रहे थे ।वर्ष 2005 में तब सफलता मिली जब यह मूर्ति लंदन में एक शख्स के घर में पाई गई। वहां से लंदन सरकार ने इसे बरामद कर लिया । इसके बाद इस मूर्ति को इंडिया हाउस में प्रदर्शन के लिए लगा दिया गया। वर्ष 2017 के अगस्त माह में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई ) की एक जांच टीम लंदन पहुंची।जहां एएसआई की टीम ने जांच में पुष्टि की कि यह वही मूर्ति है, जिसे 22 साल पहले चित्तौड़गढ़ के बरौली गांव के घंटेश्वर मंदिर से चोरी किया गया था। इसके बाद भारत सरकार ने लंदन सरकार से इसे स्वदेश वापसी के लिए अपील की थी । जिसे लंदन सरकार ने मान लिया। आज लंदन से यह दुर्लभ मूर्ति देश के लिए रवाना हो चुकी है । इस तरह शिव भक्तों में खुशी की लहर है कि आखिर 22 साल बाद भगवान शिव घर लौट रहे हैं।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

बहुत ही अच्छी बात है ।

  • Guest
  • Aug 1 2020 6:13:16:660PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार