सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

बिहार में आज फिर से लागू हुआ लॉकडाउन, कोरोना के आंकड़ो में हो रही है लगातार बढ़ोतरी

कोरोना को रोकने के लिए बिहार सरकार ने लिया फैसला

Namit Tyagi, twitter, @NamitTyagi1
  • Jul 16 2020 10:02AM
देश मे लगातार कोरोना का आकड़े लगातार बढ़ते जा रहे है बिहार में भी कोरोना अपने पैर पसार रहा है इसी को देखते हुए बिहार में आज से फिर लॉकडाउन लागू हो गया है। इस बार लॉकडाउन को 31 जुलाई तक के लिए बढ़ाया गया है। इस दौरान सभी सरकारी कार्यालयों से धार्मिक स्थल तक बंद रहेंगे। सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सरकार पूरी तरह से पालन करवाएगी

आपको बता दे की बिहार सरकार की तरफ से आदेश जारी किया गया है कि राज्य, जिला, अनुमंडल और ब्लॉक मुख्यालय के अलावा सभी नगर निकायों में यह प्रभावी है। यानि लॉकडाउन को ग्रामीण क्षेत्रों को मुक्त रखा गया है। लॉकडाउन के दौरान धार्मिक स्थलों और पार्कों को पूरी तरह बंद रखने के आदेश दिए गए हैं। धार्मिक, सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक, मनोरंजन और खेल-कूद समेत तमाम भीड़भाड़ वाले आयोजन नहीं होंगे। बाजार और मॉल भी नहीं खुलेंगे।

सभी सरकारी कार्यालय भी बंद

बिहार में आज से लागू लॉकडाउन में केन्द्र और राज्य सरकार के दफ्तर भी बंद कर दिए गए हैं। हालांकि आवश्यक सेवाओं में शामिल कार्यालयों को इससे अलग रखा गया है। वहीं जिन दफ्तरों में कामकाज होगा वहां भी मात्र 33 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति रहेगी। इससे ज्यादा कर्मचारियों के लिए जिलाधिकारी से अनुमति लेनी होगी। स्कूल, कॉलेज, कोचिंग, प्रशिक्षण व अनुसंधान से जुड़े तमाम संस्थानों को बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। कोरोना संक्रमण के चलते बनाए गए कंटेनमेंट जोन में पहले की तरह पाबंदियां बरकरार हैं। गैराज और मोबाइल रिपेयरिंग सेंटर डीएम की अनुमति के बाद ही खोले जा सकते हैं लॉकडाउन के दौरान सिर्फ राशन, दूध, सब्जी और फल के साथ मीट-मांस की दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है। व्यवसायिक प्रष्तिठान और निजी संस्थानों को भी बंद रखा गया है। राज्य में कहीं भी बसों के परिचालन नहीं होगा। निजी गाड़ियों का इस्तेमाल वही लोग कर सकते हैं जो आवश्यक सेवाओं से जुड़े हैं और लॉकडाउन में उन्हें छूट दी गई है। इससे इतर निजी गाड़ियों का परिचालन नहीं हो सकता है। अब सवाल ये कि आने वाले दिनों में बिहार में चुनाव भी होने है ऐसे में अगर कोरोना मीटर नही रुकता है तो चुनावो पर भी संकट मंडरा सकता है 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार