सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

वो कौन सा समूह है जो बना हुआ है पूज्य गुरु गोविंद सिंह जी के सत्मार्ग का शत्रु ?

क्या धर्म को बदनाम कर रहे हैं विधर्मी या अंदर ही के भितरघाती ?

Rahul Pandey
  • Jan 20 2021 8:44PM
आज देश और दुनिया के सभी धर्मनिष्ठो व् राष्ट्रभक्तो ने पूज्यनीय गुरु गोविन्द सिंह को याद किया और उन्माद , जिहाद , आतंकवाद से लड़ने के लिए उनके द्वारा मिली शिक्षा को मन में उतारा. दुनिया ने आज फिर याद किया अन्याय और अधर्म के विरुद्ध गुरु जी के सर्वोच्च त्याग को.. लेकिन मंथन ये भी हुआ कि क्या कोई भितरघाती है जो चल रहा है उनके सिद्धांतो के विरुद्ध ?

देश में किसान आंदोलन में शामिल सिखों को भड़काने के लिए खालिस्तानी प्रयास कर चुके हैं पर उन्हें कोई सफलता नहीं मिली पर नेशनल जांच एजेंसी ने अब एक और बड़ा खुलासा किया है जो कि चिंताजनक है। दरअसल NIA ने बुधवार को रेफरेंडम 2020 (सिख फॉर जस्टिस) के बैनर तले एक सोची-समझी साजिश के तहत अलगाववादी अभियान शुरू करने के आरोप में 16 विदेशी व्यक्तियों के खिलाफ चार्जशीट दायर किया था। NIA ने खालिस्तान के निर्माण के लिए एक अलगाववादी साजिश की अपनी जांच के सिलसिले में यह चार्जशीट दायर की थी।

चार्जशीट में NIA ने कहा कि अपने खालिस्तानी एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए एसएफजे अपनी सोची समझी साजिश के तहत भारत के खिलाफ विद्रोह भड़ाकाने के लिए भारतीय सेना में शामिल सिख सैनिकों को उकसाने का प्रयास रहा है। दरअसल एसएफजे खालिस्तान नाम के एक अलग और आजाद देश की मांग करने वाला यह अमेरिका बेस्ड एक अलगाववादी संगठन है।

इसकी स्थापना गुरपतवंत सिंह पन्नू ने की थी। सिख समुदाय के कई प्रतिनिधियों से चर्चा के बाद 2019 में भारत ने इस संगठन को प्रतिबंधित कर दिया था। यह संस्था ग्रेटर खालिस्तान की मांग भी करती रही है, जिसमें पाकिस्तान के पंजाब का इलाका भी शामिल होता है ।

जब पूरे देश में किसानों का आंदोलन जोरो-शोरो से चल रहा है. आशंकाएं तो यह भी जताई जा रही हैं कि पाकिस्तान के बाहर से संचालित हो रहे SFJ और अन्य खालिस्तानी संगठन विरोध भड़काने के लिए तीन कृषि कानूनों से उपजे किसानों के आक्रोश का भी इस्तेमाल करने की फिराक में हैं। किसान संगठनों को इनसे सावधन रहने की आवश्कता है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार