सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

जानिए कौन है गीता तिवारी जो हैं गोरखपुर की पहली महिला गैंगस्टर...

किसी महिला का हिस्ट्रीशीटर, गैंगस्टर होना अपने आप में कम आश्चर्य जनक नहीं है.. जानिए गोरखपुर की गीता तिवारी के गैंगस्टर बनने की पूरी कहानी

रजत के. मिश्र Twitter- rajatkmishra1
  • Jan 9 2021 11:47AM

अपराध की दुनिया में हमेशा से पुरुषों का ही बर्चस्व रहा है। ऐसे में अगर आपको यह बताया जाए कि अमुक महिला पर सरकार गैंगस्टर के तहत कार्रवाई कर रही है तो आपका आश्चर्य चकित होना लाजिमी है। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर  जिले की पहली महिला गैंगस्टर गीता तिवारी पर हिस्ट्रीशीटर की कार्रवाई की गई है। 

वर्तमान में गीता देवरिया जेल में बंद है। उस पर गोरखपुर मंडलीय कारागार के महिला बैरक में गुटबाजी करने और सही आचरण नहीं करने का आरोप लगा था। इसके बाद जेल प्रशासन ने उसे दूसरी जेल में शिफ्ट करने की शासन से अनुमति मांगी थी। अनुमति मिलने के बाद उसे देवरिया भेज दिया गया था।

गीता पर वर्ष 2019 में कोतवाली, गोरखनाथ और तिवारीपुर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। गैंगस्टर के तहत हुई कार्रवाई में गीता को जेल भेजा गया था। जमानत मिलने पर उसके खिलाफ एनबीडब्ल्यू (गैर जमानती वारंट) जारी हुआ था। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

जानकारी के मुताबिक, तिवारीपुर थाना क्षेत्र के सूर्य विहार कॉलोनी निवासी गीता तिवारी पर हत्या के प्रयास, लूट और गैंगस्टर सहित कई मामले दर्ज हैं। गीता जिले की पहली महिला गैंगस्टर है। गीता की नातिन के जन्मदिन की पार्टी में दो युवकों को गोली मारी गई थी लेकिन गीता तिवारी मामले को रफा-दफा करना चाहती थी। मेडिकल कॉलेज से पुलिस को गोली चलने की सूचना मिली जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए गीता तिवारी को गिरफ्तार कर लिया था। अब गीता पर हिस्ट्री शीट खोलने की कार्रवाई की गई है।

बता दें कि शादी से पहले गीता संवासिनी गृह में रहती थी। शिवकुमार तिवारी से उसकी शादी तत्कालीन डीएम ने कराई थी। शिवकुमार उस समय समाजसेवी था। बाद में वह स्मैक की तस्करी करने लगा। चार साल पहले शिवकुमार की मौत हो गई तो उसके सभी धंधे को गीता ने संभाल लिया। चोरी के मामलों में जेल गई और घर पर अपराधियों का आना-जाना शुरू हुआ तो पुलिस ने गैंगस्टर लगाकर जेल भेज दिया।

बताते हैं कि शिवकुमार से शादी के बाद गीता आर्केस्ट्रा का संचालन करने लगी थी। तब शिवकुमार पत्नी गीता के साथ कोतवाली इलाके में किराए के मकान में रहता था। करीब दस साल पहले गीता के घर पर छापा पड़ा तो पांच अपराधी पकड़े गए। इस मामले में पहली बार गीता जेल गई थी।

शिवकुमार कहां से आया था इसकी जानकारी किसी को नहीं है। राजाघाट इलाके में वह किराए का कमरा लेकर रहता था। इसी दौरान समाजसेवा करने लगा। तत्कालीन डीएम के संपर्क में आने के बाद उसकी शादी गीता से हो गई।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार