सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

इस्लाम के आतंकवादी विचार उजागर करने वाले Waseem Rizvi के खिलाफ FIR... ‘मोहम्मद’ किताब में रिजवी ने इस्लामिक चरमपंथ की खोली है पोल

शिया धर्म गुरु मौलाना कल्बे जवाद ने उन पर बीते दिनों एक समुदाय की धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप लगाया था। इस संबंध में उन्होंने चौक कोतवाली में जाकर इंस्पेक्टर रत्नेश सिंह को तहरीर देते हुए वसीम रिजवी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

Prem Kashyap Mishra
  • Nov 24 2021 1:40PM

वासिम रिजवी के किताब पर मचा बवाल थम नहीं रहा है. रिजवी ने एक किताब लिखी जिसका नाम है मोहम्मद है वसीम रिजवी ने किताब में दावा किया है कि ‘इस्लाम दुनिया में क्यों आया और इतना आतंकवादी विचार क्यों रखता है?’ इसी को यह किताब उजागर करती है। इसके अलावा उनका दावा है कि ये किताब पैगंबर मोहम्मद साहब के चरित्र को उजागर करती है। इसके ऊपर वसीम रिजवी का दावा है कि किताब पूरी तरह से फैक्ट्स पर आधारित है और इसे लिखने के लिए 300 से ज्यादा किताबों और मुस्लिम ग्रंथों का रिफरेंस लिया गया है। वहीं विरोध होने पर वसीम रिजवी ने कहा है कि विरोध करने वालों को पहले ये किताब पढ़ लेनी चाहिए। 

शिया धर्म गुरु मौलाना कल्बे जवाद ने उन पर बीते दिनों एक समुदाय की धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप लगाया था। इस संबंध में उन्होंने चौक कोतवाली में जाकर इंस्पेक्टर रत्नेश सिंह को तहरीर देते हुए वसीम रिजवी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। इंस्पेक्टर के मुताबिक मौलाना का आरोप है कि कुछ समय पहले वसीम रिजवी ने मुहम्मद नामक पुस्तक लिखकर महजरत मुहम्मद साहब का अपमान करने की कोशिश की है।

पुस्तक में उन्होंने ऐसी बाते लिखी हैं जो अभद्र, अश्लील और एतिहासिक तथ्यों के खिलाफ हैं। इस तरह की पुस्तक लिखकर वसीम रिजवी ने बहुत से लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत की हैं।

चौक थाने में मौलाना कल्बे जवाद(Maulana Kalbe Jawad) ने चौक थाने में वसीम रिजवी के खिलाफ तहरीर दी। मौलाना कल्बे ने पुलिस को दी गयी तहरीर में वसीम रिजवी पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए उनकी लिखी गयी पुस्तक 'मोहम्मद' का विरोध किया है। मौलाना कल्बे की तहरीर पर रिजवी के खिलाफ धारा 153 -ए, 292, 295- ए, 504, 505(2) के साथ सूचना प्रद्योगिकी अधिनियम 2008 के तहत धारा 67 में मुकदमा दर्ज किया गया है। 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार