सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

बेहोशी का ड्रामा भी नहीं बचा पाया हाजी गल्ला को.. योगी की सत्ता ने कुर्क की करोड़ों की संपत्ति

गुरुवार को सुनवाई के लिए गल्ला व उसके बेटों को दोपहर में जिला जेल से पुलिस कस्टडी में कोर्ट ले लाया जा रहा था। तभी कचहरी में गल्ला बेहोश होकर सड़क पर गिर गया जिसके कारण सुनवाई नहीं हो सकी। पुलिस के मुताबिक, गल्ला पुलिस रिमांड से बचने के लिए बेहोश होने का नाटक किया था।

shanti
  • Oct 16 2021 7:00PM
चोरी-लूट की गाड़ियां काटने वाले 50 हजार का इनामी शातिर कबाड़ी हाजी नईम उर्फ़ गल्ला की करोड़ो की सम्पति पर पुलिस ने कुर्क करने की कार्रवाई आज शनिवार दोपहर कर दी है। पुलिस ने हाजी गल्ला के देहली गेट थानाक्षेत्र के पटेल नगर स्थित करोड़ो की कोठी पर पहुंचकर कुर्की की कार्रवाई की। गल्ला पर 30 से ज्यादा मुक़दमे है। आपको बता दें कुर्की वारंट होते ही 7 अक्टूबर को गल्ला ने अपने चारों बेटे के साथ कोर्ट में सरेंडर कर दिया था जिसके बाद उसे जेल भेज दिया गया था।

बताया जा रहा है गुरुवार को सुनवाई के लिए गल्ला व उसके बेटों को दोपहर में जिला जेल से पुलिस कस्टडी में कोर्ट ले लाया जा रहा था। तभी कचहरी में गल्ला बेहोश होकर सड़क पर गिर गया जिसके कारण सुनवाई नहीं हो सकी। पुलिस के मुताबिक, गल्ला ने पुलिस रिमांड से बचने के लिए बेहोश होने का नाटक किया था।  

 पुलिस कस्टडी में हालत बिगड़ते ही गल्ला को आनन-फानन में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। करीब एक घंटा चेकअप चला जहां उसका ब्लड प्रेशर, शुगर आदि चेकअप हुआ, जो कि सामान्य मिला। और फिर उसे जेल भेज दिया गया।  पुलिस का कहना है कि गल्ला ने बेहोशी का महज ड्रामा किया था। वहीं आज पुलिस ने जिला मजिस्ट्रेट के आदेश पर कुर्की की कार्रवाई की है।  

आपको बता दें गल्ला का हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली समेत कई अन्य राज्यों में नेटवर्क फैला हुआ है जहाँ जीएसटी विभाग द्वारा जल्द ही कार्रवाई की जाएगी। अभी तक 9 कबाड़ियों पर कार्रवाई हो चुकी है जिसमें हाजी गल्ला, जइसन उर्फ़ पव्वा, शुऐब, फुरकान, अलीम, इलाल, बिलाल, खालिद व वसीम शामिल है।





सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार