सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

इस्लामिक मुल्क पाकिस्तान से जिंदा बच कर आये, पर सेक्युलर भारत मे मार डाले गए.. राजस्थान में पाकिस्तानी हिंदू का पूरा परिवार खत्म

राजस्थान की सत्ता व्यस्त है सरकार के गुणा गणित के खेल में.

Rahul Pandey
  • Aug 11 2020 11:08AM
यह वह हिंदू थे जो मात्र अपना धर्म बचा कर और अपने प्राण बचाकर उस इस्लामिक मुल्क पाकिस्तान से भारत आए थे जहां हिंदू ही नहीं बल्कि किसी भी प्रकार का गैर मुस्लिम होना मृत्यु के पत्र पर हस्ताक्षर करने के जैसा है। कहना गलत नहीं होगा कि वहां गैर मुस्लिमों के साथ जो बर्ताव किया जाता है वह मृत्यु से भी ज्यादा पीड़ादायक और दर्दनाक माना जा सकता है क्योंकि बहन बेटियों का आंखों के आगे अपहरण करना छोटे-छोटे बच्चों को जबरन मुसलमान बना देना आदि वहां के लोग अपनी आंखों से देखने पर मजबूर है।

उन्हें पूरी उम्मीद थी कि पड़ोस के मुल्क भारत में अभी जनसंख्या हिंदू बहुल है और वहां उनका धर्म और प्राण दोनों बच जाएंगे और इसी उम्मीद से उन्होंने सर्वस्व त्याग कर भारत की शरण ली और धर्मनिरपेक्षता के सभी रिकॉर्ड तोड़ रही कांग्रेस शासित राजस्थान की सरकार के अंतर्गत जोधपुर में शरण ले ली। लेकिन यहां उनके और उनके परिवार के साथ जो कुछ हुआ वह शायद पाकिस्तान में भी ना होता। एक व्यक्ति को छोड़कर पूरा का पूरा परिवार ही मौत के मुंह में धकेल दिया गया है।

ध्यान देने योग्य है कि राजस्थान में चिंता और चर्चा का विषय सपरिवार समाप्त हो गए पाकिस्तानी हिंदू परिवार से ज्यादा इस बात की है कि अशोक गहलोत की सरकार बचेगी बनेगी चलेगी इत्यादि। पुलिस ने इसमें क्या किया क्या नहीं आ तो बाद का विषय है परंतु मीडिया के वामपंथी वर्ग ने अभी से इसको आत्महत्या की तरफ मोड़ना शुरू कर दिया है जबकि यही वामपंथी वर्ग हरियाणा में ट्रेन की सीट को लेकर हुए विवाद को सीधे-सीधे गौ हत्या से जोड़कर पूरे देश और यहां तक कि भारत की संसद में भी कोहराम मचा देता है। यदि पुलिस अपनी जांच कर रही है लेकिन अब पाकिस्तान से भारत आए तमाम हिंदू परिवारों के चेहरे पर अपने व अपने परिवार की सुरक्षा की चिंता को लेकर चेहरे पर भय साफ-साफ देखा जा सकता है।

ध्यान देने योग्य है कि राजस्थान के जोधपुर जिले में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत से इलाके में सनसनी फैल गई है. आजतक को मिली जानकारी के अनुसार सभी 11 लोगों को जहर का इंजेक्शन देकर मारा गया है. पाकिस्तान से आए इस हिंदू शरणार्थी बुधाराम परिवार में कुल 12 लोग थे, जिनमें से अब एक ही जीवित बचा है. पुलिस का कहना है कि इस पूरे मामले की जांच अभी जारी है. पाकिस्तान से आए इस हिंदू शरणार्थी का परिवार पिछले तीन महीने से यहां पर खेती का काम कर रहा था.

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

धिक्कार है ऐसे भारतीय कानून और उसके आज के वैचारिक सोच को जो मनुष्यों पर अत्याचार करता है और जिहादी राक्षस👹 बच जाते हैं

  • Guest
  • Aug 11 2020 3:57:54:820PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार