सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

किसानों के टैक्टर रैली का दिल्ली कांग्रेस जगह जगह करेगी स्वागत

गणतंत्र दिवस पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस किसानों की ट्रैक्टर रैली के रुट पर जगह-जगह मंच बनाकर रैली का स्वागत करेंगे। प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी भी एक पांईट पर किसानों के समर्थन में कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर ट्रैक्टर रैली का स्वागत करेंगे। अनिल चौधरी ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यदि कृषि कानून को वर्तमान रुप में लागू किया जाता है तो सम्पूर्ण कृषि उत्पादों को भाजपा सरकार के सहयोग से चुनिंदा कॉर्पोरेट्स द्वारा खरीदकर बेचा जाएगा।

Alok Jha
  • Jan 25 2021 10:36PM
गणतंत्र दिवस पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस किसानों की ट्रैक्टर रैली के रुट पर जगह-जगह मंच बनाकर रैली का स्वागत करेंगे। प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी भी  एक पांईट पर किसानों के समर्थन में कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर ट्रैक्टर रैली का स्वागत करेंगे। अनिल चौधरी ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यदि कृषि कानून को वर्तमान रुप में लागू किया जाता है तो सम्पूर्ण कृषि उत्पादों को भाजपा सरकार के सहयोग से चुनिंदा कॉर्पोरेट्स द्वारा खरीदकर बेचा जाएगा।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि पिछले दो महीनों से किसान दिल्ली के बार्डरों पर कृषि कानूनों के विरोध में हड्डी गलाने वाली कड़कड़ाती ठंड में तीनों काले कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर धरने पर बैठे है, जबकि 100 से ज्यादा किसानों ने अपनी जान तक गंवा दी है। उन्हांने कहा कि मोदी सरकार किसानों की दुर्दशा को पूर्णतः नजरअंदाज करके अपने फैंसले पर अड़िग है, और यह स्वीकार कर रही है कि तीनों कृषि कानूनों को वापस नही लेगी, जबकि किसानों और सरकार के बीच 11 बार बातचीत बेनतीजा साबित रही है। उन्होंने कहा कि सरकार कानून रद्द नही कर रही है केवल बातचीत करने के नाम पर किसानों को बेवकूफ बना रही है, जबकि किसान कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़ी हुई, यदि किसानों की मांग नही मानी तो देश के कृषि क्षेत्र को संभालने की जगह अपने निहित स्वार्थ में किसानों की स्वतंत्रता और अधिकारों को रौंद डालेंगे।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि ट्रैक्टर रैली किसानों की पीड़ा और तीन कृषि कानूनों पर चिंता देश के किसानों की एक बड़ी आवाज साबित होगी। कृषि कानून केवल कुछ चुनिंदा कॉर्पोरेट्स को लाभ पहुॅचाने  के लिए बनाया गए हैं, और कृषि क्षेत्र निजी क्षेत्र को सौंपा जाएगा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने पहले ही लाभ कमाने वाले सार्वजनिक क्षेत्र के संस्थानों का विनिवेश कर दिया है, जिन पर कई वर्षों से योजना के तहत कुछ पसंदीदा लोगों को दिया गया है। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र को भी उसी तर्ज पर मोदी सरकार ने अपने चुनिंदा कॉर्पारेट्स को लाभ पहुचाने के लिए तीन कृषि कानूनों को अमली जामा प्रारुप तैयार किया गया है। लेकिन देश के किसान केंद्र को इसमें सफल नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि अरविंद सरकार, जो राजधानी में लगातार बढ़ते वायु प्रदूषण के लिए किसानों को दोषी ठहरा रही है, और विधानसभा के विशेष सत्र में तीन कृषि कानूनों में से एक का समर्थन किया था, हकीकत में, किसानों के विरोध के प्रति ‘झूठी’ सहानुभूति दिखाते हुए एक किसानों को गुमराह करने का खेल खेल रहे है। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि आम आदमी पार्टी भाजपा की सिर्फ बी टीम के रुप में काम करती है और सिर्फ दिखावें के लिए किसान विरोधी कानूनों का समर्थन कर रही है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि कांग्रेस किसानों की लड़ाई में उनके साथ खड़ी है और जब तक तीनों किसान विरोधी कृषि कानूनों को निरस्त नहीं किया जाता, तब तक किसानों को समर्थन जारी रहेगा।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार