सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

मोदी सरकार का दावा - "किसी का 1 रुपया भी माफ नही किया गया है" .. भ्रम फैलाने वालों को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर जी का जवाब

इस से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने दिया था बयान..

Sudarshan News
  • Apr 30 2020 9:38AM

मोदी सरकार के मंत्री जावड़ेकर जी ने दिया जबाब - कहा हमने किसी का एक रुपया माफ नही किया. देश मे कोरोना जैसी महामारी के बीच बहु राजनीति कम होने का नाम नही ले रही है बल्कि हर बात राजनीति गर्म होती नज़र आ रही है ।  इसी बीच  मोदी सरकार केंद्र मंत्री जावड़ेकर ने कहा कि मैं राहुल गांधी की इस आरोप को सिरे से खारिज करता हूं । मोदी सरकार ने कोई कर्ज माफ नही किया है । हमने कोई 65,000 का कर्ज माफ नही किया है । 

हाल में ही देश के बैंकों ने विलफुल डिफाल्टर्स का करोड़ों रुपए का कर्ज बट्टे खाते में डाल दिया है । ये 50 बड़े विलफुल डिफाल्टर्स का कर्ज है तो वही इस कर्ज की रकम करीब 68, 607 करोड़ रुपए का है। इस बात को लेकर मोदी सरकार पर कांग्रेस ने निशाना साधा था । हांलकि बीजेपी ने इस पर आज जबाब भी दे दिया है । आज केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर जी ने कहा कि राहुल गांधी को पी.चिदम्बरम से ट्यूशन लेना चाहिए। कांग्रेस द्वारा लगाए गए आरोप पर कहा कि मैं राहुल गांधी की इस आरोप को सिरे से खारिज करता हूं कि मोदी सरकार ने 65,000 करोड़ रुपये माफ कर दिए है। एक भी पैसा माफ नही किया गया है। कर्ज को बट्टे खाते में डालने का मतलब माफ करना नही होता है । उन्होंने कहा कि अब तो राहुल को चिदम्बरम से कर्ज माफी और कर्ज को बट्टे खाते में डालने में अंतर समझने के लिए ट्यूशन लेना चाहिए । उन्होंने कॉग्रेस को निशाना साधते हुए कहा कि कर्ज को बट्टे  खाते में डालना जमाकर्ताओं को बैंक की सही तस्वीरें दिखाने की प्रक्रिया है। यह बैंकों को कार्रवाई करने और वसूली करने से नहीं रोकता है। हमने देखा है कि कैसे नीरव मोदी की संपत्ति जब्त और नीलाम की गई।  माल्या के पास कोई विकल्प नहीं बचा है। हाई कोर्ट ने उनकी अपील को खारिज कर दिया है। 

इससे पहले  केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने  भी कहा था कि कांग्रेस केनेताओं ने जान कर इस बात को उठाया है । उन्होंने बैंको का कर्ज नही लौटने वाले , फंसे कर्जो ओर राइट ऑफ पर लोगो को गुमराह करने के लिए किया है। बता दे साथ मे निर्मल ने कहा था कि कर्ज को बट्टे खाते में डालना जमाकर्ताओं को बैंक की सही तस्वीरें दिखाने की प्रक्रिया है।  यह बैंकों को कार्रवाई करने और वसूली करने से नहीं रोकता है। उन्होंने कहा कि  हमने देखा है कि कैसे नीरव मोदी की संपत्ति जब्त और नीलाम की गई। माल्या के पास कोई विकल्प नहीं बचा है ऑर्डर साथ ही हाई कोर्ट ने उनकी अपील को खारिज कर दिया है।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार