सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

लद्दाख में बन रही खुफिया सड़क चीन और पाकिस्तान को मिलेगा करारा जवाब

चीन और पाकिस्तान को भनक लगे बिना भारत सीमा पर सैनिकों की तैनाती कर सकेगा

Anchal Yadav
  • Aug 20 2020 12:56PM
चीन और पाकिस्तान की बढ़ती दोस्ती के कारण भारत दोनों देशों से सटी सीमाओं तक तेज पहुंच कायम करने की दिशा में चौतरफा कदम उठा रहा है। दोनों देशों की तरफ से अचानक पैदा की गई चुनौतियों से निपटने के लिए सैन्य दलों और युद्ध के हथियार तेजी से सीमाओं तक पहुंचाने के लिए ऐसी सड़क का निर्माण हो रहा है जिस पर हो रही गतिविधियाँ कभी भी दुश्मन की नजर में नहीं आ सकेंगी। यह सड़क मनाली से लेह तक जाएगी। यह सड़क भारत के अन्य हिस्सों से लद्दाख की सीमा तक पहुंचने का तीसरा रास्ता होगी। जानकारी के अनुसार एजेंसियां निमू-पदम-दार्चा के जरिए मनाली से लेह तक सड़क निर्माण पर काम कर रही हैं। इससे मौजूदा जोजिला दर्रे से श्रीनगर होते हुए या फिर सारचू होते हुए मनाली से लेह जाने वाली सड़क के मुकाबले तीन घंटे का वक्त बचेगा। मनाली से लेह तक जाने में तीन से चार घंटे का समय तो बचेगा ही उससे भी बड़ी बात ये है चीन और पाकिस्तान को भनक लगे बिना भारत सीमा पर सैनिकों की तैनाती कर सकेगा और उन तक सैन्य सामान को पहुंचा सकेगा। इस रोड की खासियत ये होगी कि यहां से टैंक, आर्टिलरी गन जैसे बड़े-बड़े और भारी हथियार लद्दाख सीमा तक बिल्कुल गुप्त तरीके से पहुंच जाएंगे। सूत्रों ने बताया कि ये सड़क लेह में निमू के पास मनाली को जोड़ देगा जहां चीन के साथ झड़प के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल ही में गए थे। भारत (DBO) और लद्दाख के दूसरे सीमाई इलाकों को जोड़ने के भी वैकल्पिक रास्ता तैयार कर रहा है। इस पर पिछले तीन साल से काम चल रहा है और अब तो दुनिया की सबसे ऊंची सड़क खार्दुंग ला पास पर भी काम शुरू हो चुका है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें