सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

अगर आपकी कभी चोरी हुई है अटैची तो फरमाइए गौर.. और पहुँचिए बिजनौर...

25 साल से पूरे देश मे सक्रिय है बिजनौर के अटैची चोर.. 800 से ज्यादा अटैची चोर पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज..

रजत के.मिश्र , Twitter - rajatkmishra1
  • Jan 3 2021 10:52AM

यूपी का ऐसा जिला जो एक खास तरह के चोरों के लिए बदनाम है.. जी हां अगर सफ़र के दौरान अगर आपकी अटैची चोरी हो जाती है तो एक बार यूपी के बिजनौर में आकर जरूर पता कर लीजिए। बिजनौर में पिछले 25 वर्षों से 800 से भी ज्यादा अटैची चोर सक्रिय हैं जिनके काम करने के शातिराने अंदाज को देखकर आप दंग रह जाएंगे। इन चोरों के चोरी करने की रफ़्तार इतनी तेज है कि कब सफर के दौरान आपकी अटैची से नकदी और जेवरात निकल जायेगे आपको उसकी भनक तक नही लगेगी।

चोरों की संख्या इतनी ज्यादा फिर भी पुलिस मेहरबान - 

अब सवाल उठता है कि जब ये चोर इतने शातिर है तो पुलिस इनको पकड़ने के लिए कार्यवाही क्यो नही करती क्यो ये खुलेआम घूमकर वारदातों को अंजाम दे पा रहे है। दरसल ये चोर बिजनौर जिले की सीमा में चोरी की घटनाओं को अंजाम नही देते इसकी वजह से स्थानीय पुलिस भी इन पर कोई कार्यवाही नही करती। यह एक तरह का अलिखित एग्रीमेंट है जो स्थानीय पुलिस और अटैची चोरों के बीच हो रखा है। ये सभी चोर बिजनौर के बाहर चोरी की घटनाओं को अंजाम देते है जिसमे एक ही परिवार के कई लोग शामिल होते है। ये लोग बिजनौर से बाहर जाकर दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, मध्यप्रदेश, आंध्रप्रदेश जैसे राज्यों में अटैची चोरी की घटनाओं को अंजाम देते हैं।

थानों में लगे नाम तो सिफारिश करवाकर हटवा दिए - 

अटैची चोरों पर शिकंजा कसने के लिए पुलिस ने कई साल पहले पुलिस ने थानों में इन चोरों की तस्वीरों को थानों के बोर्ड पर लगाकर उनको सार्वजनिक करना शुरू कर दिया था। अपने नाम और तस्वीर थानों के बोर्ड पर लिखे देख ये अटैची चोर अपने को अपमानित महसूस करते थे। यहां तक कि बोर्ड से नाम हटाने के लिए नेताओ की सिफारिश भी लगवाई जाती थी लेकिन साल दर साल जैसे जैसे पुलिस थाने हाईटेक होते चले गए तस्वीरों वाले ये बोर्ड भी स्टोर रूम में धूल फाँकने लगे। बोर्ड हटने के बाद अब इन अटैची चोरों को तब तक किसी का डर नहीं जब तक ये पकड़ में नही आते। पकड़े जाने पर भी छोटी सजा के साथ ये वापस अपने काम मे लग जाते है।पुलिस रिकॉर्ड में चिन्ह्त अटैची चोरों में कई ने अथाह संपत्ति भी बना ली है और अब वो महंगी गाड़ियों में घूम रहे हैं।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार