सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

गरीबों की मदद के लिए अलग नीति की जरूरत, मजबूरी में करते है गांवों से पलायन-नितिन गडकरी

गरीबों की मदद के लिए अलग नीति की जरूरत, मजबूरी में करते है गांवों से पलायन-नितिन गडकरी ताकि गाँव के गरीब शहरों में आकर पलायन ना करें

Gaurav Mishra
  • Jul 20 2020 3:46PM
कोरोना संकट के मौजूदा दौर में गरीबों को हो रही दिक्कतों को देखते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने उनके लिए अलग नीति की जरूरत पर बल दिया है। एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को कहा कि सामाजिक,आर्थिक शैक्षणिक रूप से पिछड़े लोगों को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने हेतु पूंजी समर्थन मुहैया कराने के लिए एक अलग नीति की जरूरत पर जोर दिया। गडकरी ने कहाँ आर्थिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े जिन लोगों लोगों के पास कौशल है मगर पूंजी नहीं, उनके लिए अलग नीति की जरूरत है। सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय की भी कमान संभालने वाले गडकरी के मुताबिक लोग ग्रामीण भारत से शहरी भारत की ओर चाहकर नहीं, बल्कि मजबूरी में पलायन करते हैं। इसकी वजह यह है कि क्योंकि उनके पास रोजगार नहीं है, पूंजी नहीं है और गरीबी एक बड़ी समस्या है। गरीबी उन्मूलन के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इनमें से जिन लोगों के पास प्रतिभा, साहस और उद्यमशीलता है, हमें उन्हें वित्तीय मदद देनी चाहिए। पूंजी नहीं, उनके लिए अलग नीति की जरूरत है। सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय की भी कमान संभालने वाले गडकरी के मुताबिक लोग ग्रामीण भारत से शहरी भारत की ओर चाहकर नहीं, बल्कि मजबूरी में पलायन करते हैं। इसकी वजह यह है कि क्योंकि उनके पास रोजगार नहीं है, पूंजी नहीं है और गरीबी एक बड़ी समस्या है। गरीबी उन्मूलन के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इनमें से जिन लोगों के पास प्रतिभा, साहस और उद्यमशीलता है, हमें उन्हें वित्तीय मदद देनी चाहिए। इससे पहले केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री नितिन गडकरी ने देश के समक्ष जब भी कठिन चुनौतियां आई हैं, तो देशवासियों ने उनका सामना सकारात्मक ऊर्जा के साथ किया है। वर्तमान में भी ऐसी ही चुनौतियां हैं। कोरोना संक्रमण काल के चलते पैदा हुई चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए केंद्र सरकार ने जो बीस लाख करोड़ का राहत पैकेज घोषित किया है, उससे अर्थव्यवस्था सुधरने में भी काफी मदद मिल रही है।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

बिल्कुल सहमत

  • Guest
  • Jul 20 2020 3:50:01:997PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार