सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

'सौरभ सोनवानी' को 'शमशाद' बनाने का मामला..3 महिलाओं पर पुलिस ने दर्ज़ किया FIR

सुदर्शन ने प्रमुखता से प्रसारित की ख़बर, अब विभिन्न धाराओं के तहत अपराध हुआ दर्ज़

Yogesh Mishra
  • Jan 11 2022 7:43PM





छत्तीसगढ़ के जशपुर में सुदर्शन न्यूज़ की ख़बर का बड़ा प्रभाव हुआ है। जशपुर में नाबालिग बच्चे के खतना कराने के मामले पर पुलिस ने 3 महिला पर दर्ज FIR कर लिया है। 




गौरतलब है कि इस मामले में सैकड़ों लोगों ने सन्ना थाने का घेराव किया था। पुलिस ने चाइल्ड लाइन में बच्चे के बयान के बाद तीन महिला आरोपी के विरुद्ध सन्ना थाने में आईपीसी की धारा 295 क, 324,34 व छत्तीसगढ़ धर्म स्वातंत्र्य अधिनियम की धारा34 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है।



जशपुर की एडिशनल एसपी प्रतिभा पाण्डेय ने सुदर्शन न्यूज़ से बातचीत में अपराध दर्ज़ होने की पुष्टि की है।



क्या था मामला?
गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के सन्ना थाना क्षेत्र से धर्मांतरण का बड़ा मामला सामने आया था। जहां 8 वर्ष के बच्चे के बयान के मुताबिक मेला घुमाने के बहाने बच्चे का खतना कर दिया गया। वहीं इसके बाद उसका नाम सौरभ की जगह शमशाद होने का मामला सामने आया था। इस घटना के बाद पूरे समाज के लोग बच्चे के पिता के साथ थाना सन्ना पहुंच कर मामले की शिकायत कर रहे थे।


जानकारी के मुताबिक आदिवासी बाहुल्य जिले जशपुर के ग्राम सन्ना नगरटोली निवासी चितरंजन सोनवानी उर्फ टिडु, जो कि हिन्दू धर्म के घांसी समाज का है। उसकी पिछले करीब 10 से 12 वर्ष पहले डुमरकोना के हर्राडिपा गांव की एक मुस्लिम महिला से हिन्दू रीतिरिवाज से विवाह हुई थी और हिन्दू रीति रिवाज से जीवन भी यापन कर रहे हैं।



परन्तु उसकी पत्नी ने 8 वर्षीय बच्चे को उसके पिता के मर्जी बिना ही मायके पक्ष से मिल कर बच्चे को मनोरा के आस्ता में ले जा कर खतना करा दिया है।



दिया जाता रहा है लालच 
बताया यह भी जा रहा है कि पूरे परिवार को मुश्लिम धर्म अपनाने के लिए पूर्व में भी कई तरह का प्रलोभन परिवार को दिया जा चुका है। जिसकी खबर पिता और समाज को लगी तो सन्ना में लगातार बैठकों का सिलसिला जारी हो गया। वहीं सन्ना में पूरे समाज के लोगों में काफी आक्रोश दिखाई पड़ रहा था। जिसके बाद पूरा समाज के साथ शिकायकर्ता थाना पहुंच गया था।



पुलिस से की गई शिकायत
शिकायतकर्ता पिता ने आवेदन में लिखा था कि 'मैं चितरंजन ( टिडु ) सोनवानी पिता दामडे सोनवानी जाति घासी ग्राम पंचायत संन्ना का स्थाई निवासी हूँ। निवेदन है कि मैं ग्राम संन्ना में रहता हूँ, हिन्दू धर्म का पालन करता हूँ, आज से लगभग 10 वर्ष पूर्व मेरा शादी हिन्दु रिती रिवाज के अनुसार डुमरकोना हर्राडिपा निवाशी बेगम के साथ हुई है। उसके बाद से हम लोग हिंदू रिती रिवाज के अनुसार सन्ना में जीवन यापन कर रहे थे। हमारे दाम्पत्य सम्बंध से दो बच्चे हैं जिनका नाम सौरभ सोनवानी उम्र 8 वर्ष एवं दुतीय पुत्री सानियां सोनवानी उम्र 6 वर्ष है। अत : मेरे बड़े पुत्र सौरभ सोनवानी उम्र 8 वर्ष को मेरी पत्नी  रेश्मा बेगम द्वारा मायके ले जाकर एवं मायके पक्ष के कुछ लोगों के साथ मिलकर माह नवम्बर में आस्ता सरडिह ले जाकर वहां से अम्बांधपुर ले जाया गया और वहाँ मेरे पुत्र को मेरे मर्जी के खिलाफ इस्लाम धर्म में धर्मान्तरण कराने के उद्देश्य से उसका खतना कर दिया गया है। जिसकी जानकारी मुझे बाद में " चला तथा महोदय ज्ञात हो कि मेरे ससुराल वालों के द्वारा मेरे विवाह के पश्चात से मुझे लगातार मुझे इस्लाम धर्म स्वीकार करने का दबाव बनाया जाता रहा है। इस हेतु मुझे कई प्रलोभन भी दिए जाते रहे हैं। जिसमें पिकअप गाड़ी देने कि बात कही गई थी। लेकिन मैं इस्लाम धर्म स्वीकार करने के पक्ष में बिल्कुल तैयार नहीं था और नहीं हुं। इसी कारण से मेरी पत्नी रेश्मा बेगम और उसके मायके पक्ष भाई वगैरा मिलकर मेरे नाबालीक पुत्र सौरभ सोनवानी का इस्लाम धर्म में धर्मान्तरण करा दिया। अतः श्रीमान से निवेदन है कि उक्त सम्बन्ध में जांच कर दोसियों के विरुद्ध कार्यवाही करने की कृपा करें।'



सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार