सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

जहां जमीन खरीदने तक की अनुमति नहीं थी वहां कर दिया जमीन घोटाला.. सत्ता का सर्वोच्च दुरुपयोग

जम्मू कश्मीर में बड़ा जमीन घोटाला, कांग्रेस और पीडीपी नेताओं के नाम शामिल...

Sudarshan News
  • Nov 24 2020 5:18PM
जम्मू-कश्मीर में जमीन घोटाले को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। इस जमीन घोटाले में कई पार्टी के नेताओं के शामिल होने की जानकारी मिली है। यह घोटाला 25 हजार करोड़ का बताया जा रहा है। इस सरकारी जमीं पर कब्जा करने वाले नेताओं और नौकरशाहों की लिस्ट एक निजी मीडिया चैनल के पास होने की खबर मिली है। घोटाले की जांच सीबीआई कर रही है। 

जानकारी के मुताबिक इस घोटाले में पीडीपी नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व वित्त मंत्री हसीब दरबो के के भी शामिल होने का दावा किया गया है। लेकिन दावा किया गया है। कि इस लिस्ट में मंत्री हसीब दरबो की रिश्तेदार शहजादा बानो, एजाज हुसैन और इफ्तिकार दरबो के नाम भी शामिल हैं। इसके अलावा लिस्ट में कांग्रेस नेता केके अमला पर भी सरकारी जमीन के इस घोटाले में शामिल पाए गए हैं। 

घोटाले लिस्ट में मुख्य सचिव रैंक के ऑफिसर रहे मोहम्मद शफी पंडित का भी नाम है। कहा जा रहा है कि इन्होंने भी अपने रिश्तेदारों के नाम पर काफी जमीन आवंटित कराई। वहीं सैयद मुजफ्फर आगा, मुस्ताक अहमद चाया, मिस निघत पंडित, तनवीर किचलू, सैयद अखनून, एमवाई खान, असलम गोनी, हरून चौधरी, सुज्जैद किचलू, अब्दुल मजीन वाणी कुछ अन्य लोग भी शामिल हैं।

बता दें कि 1999 के पहले जम्मू-कश्मीर में जो सरकारी जमीन थी उन्हें गरीब तमगे के लोगों को देने के लिए सरकार ने रोशनी एक्ट बनाया गया था। साथ ही इसका दूसरा उपयोग पॉवर प्रोजेक्ट के लिए पैसा जमा करना भी था ताकि उसका इस्तेमाल जम्मू-कश्मीर के पॉवर प्रोजेक्ट में किया जा सके। इस मामले में 25 हजार करोड़ रुपये की कीमत की सरकारी भूमि के बड़े हिस्से को हड़पने के लिए लोक सेवकों अन्य की कथित भूमिका की जांच करने के जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट ने निर्देश दिए थे। जिसके बाद बीते दिनों सीबीआई ने रोशनी भूमि घोटाले के संबंध में तीन अलग-अलग मामले दर्ज किए।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार