सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

माफ़ी...नाकाफी ..उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के जबलपुर में वेब सीरिज तांडव के निर्माता व अन्य के विरुद्ध मामला दर्ज़,

हिंदू सेवा परिषद ने ओमती थाने में दर्ज कराई एफ आई आर,धार्मिक भावनाओं भड़काने,आस्था को चोटिल करने जैसी गंभीर धाराओं के अंतर्गत दर्ज़ हुआ मामला।

जीतेन्द्र चिमनानी
  • Jan 19 2021 9:18PM

अमजोन ओ टी टी प्लेटफार्म में फिल्म " तांडव "  वेब सीरीज के प्रर्दशन से हिन्दूओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। हिंदूओं के देवी देवताओं का मज़ाक बनाने और करोड़ो हिन्दुओं की आस्था के साथ खिलवाड़ तथा धार्मिक उनमाद फैलाने को लेकर हिन्दू सेवा परिषद् द्वारा विगत दिवस थाना ओमती में मामला  पंजीबध्द कराने लिखित शिकायत दी थी जिसके आधार पर आज थाना ओमती में हिन्दु सेवा परिषद् ने ऐफ आई आर दर्ज कराई है। फिल्म निर्माता अली अब्बास जफ़र, राईटर गौरव सोलंकी समेत कईयों पर धारा 295 अ , 153 अ व 505 (2) के तहत मामला दर्ज हुआ। हिन्दू सेवा परिषद् के महानगर अध्यक्ष धीरज ज्ञानचंदानी द्वारा कार्यकर्ताओं समेत थाना ओमती में मामला दर्ज कराया। धीरज ज्ञानचंदानी ने बताया कि वेब सीरीज में  पहले एपिसोड के 17 वें मिनट में, पात्रों ने अनुचित तरीके से कपड़े पहने और हिंदू देवी-देवताओं का प्रतिनिधित्व करते हुए उन्हें अनिर्दिष्ट और "निम्न-स्तरीय" भाषा में बोलते हुए दिखाया गया।  यह धार्मिक भावनाओं को भड़काने और चोट पहुंचा सकता है।

माफ़ी नाकाफी...
सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर निर्देशक अलो अब्बास द्वारा सार्वजनिक माफ़ी मांगी गई, उन्होंने कहा कि उनका उद्देश्य किसी भी व्यक्ति, धर्म, पंत आदि की किसी भी भावनाओं को चोटिल करने जैसा नहीं है, अगर किसी व्यक्ति विशेष की आस्थ को चोट पहुंची है तो बिना किसी शर्त के माफी मांगता हूं जिस पर हिंदू सेवा परिषद के महानगर अध्यक्ष धीरज ज्ञानचंदानी का कहना है उक्त कृत्य माफी योग्य नहीं है दर्शाए गए दृश्य आम जन की आस्था से जुड़ा हुआ गंभीर मामला है वह ऐसे दृश्य दर्शाने वालों पर माफी नहीं कार्यवाही होनी चाहिए।


सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार