सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

महबूबा के बाद अब अब्दुल्ला ने भी अलापा आतंकी पाकिस्तान का राग... आखिर यह पाकिस्तान प्रेम कब तक?

महबूबा के बाद अब अब्दुल्ला ने कहा कि भारत को पाकिस्तान के साथ बातचीत करनी चाहिए

Shiv Kumar
  • Feb 22 2021 6:56PM

जम्मू-कश्मीर से अस्थाई रुप से लगी धारा 370 हटने के बाद, आतंकी घटनाओं में खासी कमी आई है। पर पाक का आतंकी खेल रुका नहीं है अब भी अपने मंसूबों को पूरा करने का प्रयास करता रहता है। वहीं पाकिस्तान प्रेमीओं का प्रेम भी यदा-कदा निकलकर बाहर आ ही जाता है। जिसके चलते यह लोग आतंक पर, आतंक के आका पाकिस्तान से बात करने की वकालत करने लगते हैं।

अब्दुल्ला ने कहा कि भारत को पाकिस्तान के साथ बातचीत करनी चाहिए


दरअसल जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद कुछ एजेड़ाजीवी नेताओं की दुकाने बंद हो गईं हैं। जिसके चलते अब उन्हें मौको की तलाश रहती है ताकि कुछ जहर उगल सकें। इसी कड़ी में नेशलन कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि भारत को पाकिस्तान के साथ बातचीत करनी चाहिए। इससे पहले पीडीपी प्रमुख और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि जम्मू कश्मीर मुद्दे का हल भारत और पाकिस्तान के बीच सिर्फ बातचीत के जरिए हो सकता है।

आतंकवाद अभी भी मौजूद है - अब्दुल्ला


दरअसल फारूक अब्दुल्ला ने कहा, "ये सही है कि आतंकवाद अभी भी मौजूद है. वे गलत हैं जब वे ये कहते हैं कि ये खत्म हो गया। अगर हमें आतंकवाद को खत्म करना है तो हमें अपने पड़ोसियों से बातचीत करनी पड़ेगी. मुझे अटल बिहारी वाजपेयी का बयान याद है जिसमें उन्होंने कहा था कि हम दोस्त बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं।"


फारूक अब्दुल्ला ने चीन पर कहा


वहीं भारत-चीन सीमा विवाद पर नेशलन कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने कहा, "मसला बड़ा है बातचीत फिर से शुरू होगी क्योंकि सीमा निर्धारित नहीं है। दोनों देशों को बैठकर सीमा को तय करना पड़ेगा। यह मसला खत्म हो जाए उससे दोनों देश खुश रहेंगे। दोनों ताकतवर देश हैं और दोस्ती में तरक्की करेंगे।"

वहीं आतंकवादी हमले में मारे गये एक पुलिसकर्मी के परिवार से मिलने गई महबूबा मुफ्ती ने भी कश्मीर में आतंक की घटना को रोकने के लिए पाक से वार्ता करने की बात कही थी। इन नेताओ ने हमेशा से ही कश्मीर में आग भड़काने कार्य किया है। और यही आगे भी भारत में रहकर आतंकी पाक से संन्धि की बात करते रहतें हैं।

 

 

 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार