सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

बाँदा जेल पहुँचने के कुछ ही घंटे बाद एमपी- एमएलए कोर्ट ने किया मुख्तार को तलब

मुख्तार के यूपी आते ही उसके गुनाहों का फैसला करने के लिए कोर्ट भी तत्पर लग रही हैं... तभी तो प्रयागराज की एमपी- एमएलए कोर्ट ने उसके बाँदा जेल पहुँचने के कुछ ही घंटों के भीतर उसे 12 अप्रैल को कोर्ट में पेश होने का नोटिस जारी कर दिया है

रजत के. मिश्र Twitter- rajatkmishra1
  • Apr 7 2021 11:02AM

बाँदा जेल पहुचने के कुछ घंटे बाद ही एमपी-एमएलए कोर्ट ने मुख्तार को तलब कर लिया है। आरोप तय करने के लिए 12 अप्रैल को उसे तलब किया गया है। दरअसल 21 साल पहले लखनऊ जेल में मुख्तार अंसारी और उनके गुर्गों पर जेल अधिकारियों पर हमला करने का आरोप है। इस मामले में मुख्तार अंसारी के अलावा यूसुफ चिश्ती, आलम, कल्लू पंडित और लालजी यादव आरोपी हैं. विशेष न्यायाधीश पीके राय अब यूसुफ चिश्ती, आलम, कल्लू पंडित और लालजी यादव के खिलाफ आरोप तय करने के लिए तैयार हैं।

चिश्ती और आलम पहले से ही न्यायिक हिरासत में हैं, जबकि पंडित और यादव जमानत पर हैं। चूंकि मुख्तार अंसारी अदालत में पेश नहीं हो रहे थे, इसलिए मामले के आरोपियों के खिलाफ आरोप तय नहीं हो पा रहे थे। अदालत ने यूपी पुलिस के शीर्ष अधिकारियों को बार-बार लिखा था और पंजाब के जेल अधिकारियों को अंसारी को पेश करने का निर्देश दिया था।

इस मामले में प्राथमिकी 3 अप्रैल, 2000 को लखनऊ के आलमबाग पुलिस स्टेशन के जेलर एसएन द्विवेदी ने दर्ज कराई थी। प्राथमिकी में आरोप लगाया गया था कि उस दिन कुछ बंदियों को अदालत में सुनवाई के बाद वापस जेल लाया गया था। अंसारी के लोगों ने एक बंदी चांद के साथ मारपीट शुरू कर दी।

एफआईआर के मुताबिक, हंगामा सुनकर जेलर एसएन द्विवेदी, डिप्टी जेलर बैजनाथ राम चौरसिया और कुछ अन्य लोग वहां पहुंचे और चांद को बचाने की कोशिश की। इसके बाद मुख्तार अंसारी और उनके गुर्गों ने जेल अधिकारियों के साथ भी बुरी तरह से मारपीट की, उन्हें तब ही बचाया जा सका जब अलार्म बजाया गया।

मामले में अन्य आरोपियों के साथ मुख्तार अंसारी का नाम था। जांच के बाद सभी आरोपियों पर विभिन्न धाराओं के तहत आरोपपत्र दायर किया गया। मुख्तार अंसारी को कोर्ट में पेश किया जाएगा, जहां आरोप तय किए जाएंगे।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार