सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

तब्लीगीयो का कोर्ट में ये कबूलनामा मुहर है सुदर्शन के एक एक दावे पर.. उन वामपंथियो को जवाब भी जो उतरे थे बचाव में

तब्लीगी जमात के 49 विदेशियों ने देश में कोरोना वायरस फैलाने का कबूला जुर्म, कोर्ट ने सुनाई ये सजा

Shiv Kumar
  • Feb 25 2021 6:29PM

कोरोना काल में तब्लीगी जमात का तांडव पूरे विश्व ने देखा था, किस तरह से कोरोना को फैलाने में इन्होंने आतंक मचाया था। प्रशासन से लेकर डॉक्टरों तक हर किसी के साथ इन्होंने दुर्व्यवहार किया था। अब इनमें 49 विदेशियों ने देश में कोरोना वायरस फैलाने का जुर्म कबूल कर लिया है, जिसको लेकर कोर्ट ने सभी 49 को सजा सुनाई है।

दरअसल कोरोना महामारी और लॉकडाउन के दौरान केंद्र और राज्य की गाइडलाइंस के उल्लंघन के आरोपी तब्लीगी जमात के लोगो ने अपना जुर्म मान लिया है। थाईलैंड, किर्गिस्तान, कजाकिस्तान और बांग्लादेश से उत्तर प्रदेश पहुंचे तब्लीगी जमात के 49 विदेशियों ने देश में कोरोना वायरस फैलाने का जुर्म कबूल कर लिया है। 

बता दें कि केंद्र और राज्य की गाइडलाइंस के उल्लंघन करने के मामले में लखनऊ कोर्ट ने सजा सुनाई है।लखनऊ की सीजेएम कोर्ट ने 49 आरोपियों को जेल में बिताई गई अवधि और 1500-1500 रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। साथ ही टूरिस्ट वीजा पर मस्जिदों में घूम-घूम कर तबलीगी जमात में भी शामिल होने का आरोप लगा है। इस मामले में आरोपियों के खिलाफ बहराइच, सीतापुर, भदोही और लखनऊ में केस दर्ज किए गए थे।

दरअसल देश में शुरुआती समय में लॉकडाउन लगाकर सरकार ने कोरोना महामारी पर लगभग नियत्रण पा ही लिया था। पर उसी समय दिल्ली के निजामुदुदीन मरकज से निकले तबलीगी जमात के लोगों ने देश भर का माहौल खराब कर दिया जिस से कोरोना पर सरकार का नियत्रण कम हो गया। पर फिर भी  प्रयास करने से एक बार फिर नियत्रण पा लिया था। लेकिन जमात के लोगो ने फिर भी सरकार का साथ नहीं दिया। डॉक्टर, पुलिस किसी की बात सुनने को तैयार नहीं थे। उस दौरान डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार करने की खबरें भी सामने आई थी।

 

 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

Can u share the original judgement document or link for the judgement. There is no one other than globenewsinsider who gives this news. Other media says all of them are acquitted for lack of proof

  • Guest
  • Feb 28 2021 2:09:01:067AM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार