सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

15 वी वित्त आयोग की रिपोर्ट तैयार , 9 नवंबर को राष्ट्रपति को सौपी जाएगी रिपोर्ट

आयोग अपनी रिपोर्ट 9 नवंबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंंद को सौंपेगी. 15वां वित्त आयोग रिपोर्ट की एक कॉपी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी अगले माह सौंपेगी। संविधान की अनुच्छेद 280 के क्लॉज 1 के तहत राष्ट्रपति ने पंद्रहवे वित्त आयोग का गठन किया था। आयोग का अध्यक्ष एन के सिंह को बनाया गया था जबकि इसके सदस्यों में शक्तिकांत दास, प्रो0 अनूप सिंह, डॉ0 अशोक लाहिडी और डॉ0 रमेश चंद थे।

Alok Jha
  • Oct 30 2020 5:58PM
15 वे वित्त आयोग ने अगले आने वाले पांच सालों के लिए अपना रिपोर्ट तैयार कर लिया है । एन के सिंह की अध्यक्षता में साल 2021-22 से 2025-26 के लिए पंद्रहवे वित्त आयोग का गठन किया गया था । केंद्र सरकार और राज्य सरकारों, विभिन्न स्तरों के लोकल गवर्नमेंट, वित्त आयोग के पूर्व चेयरमैन और इसके सदस्यों, कमिशन की एडवाइजरी काउंसिल, संबंधित क्षेत्रों के विशेषज्ञों, शैक्षणिक संस्थानों और अन्य दूसरे संस्थानों के साथ व्यापाक विचार-विमर्श और मैराथन बैठकों के बाद 15वें वित्त आयोग की रिपोर्ट तैयार की गई है। आयोग के अध्यक्ष एन के सिंह और इसके सदस्यों ने रिपोर्ट में अपने हस्ताक्षर कर दिए हैं । 
आयोग अपनी रिपोर्ट 9 नवंबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंंद को सौंपेगी. 15वां वित्त आयोग रिपोर्ट की एक कॉपी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी अगले माह सौंपेगी। संविधान की अनुच्छेद 280 के क्लॉज 1 के तहत राष्ट्रपति ने पंद्रहवे वित्त आयोग का गठन किया था। आयोग का अध्यक्ष एन के सिंह को बनाया गया था जबकि इसके सदस्यों में शक्तिकांत दास, प्रो0 अनूप सिंह, डॉ0 अशोक लाहिडी और डॉ0 रमेश चंद थे।
वहीं अरविंद मेहता को इसका सचिव बनाया गया था।बाद में शक्तिकांत दास द्वारा त्यागपत्र दिए जाने की वजह से उनके स्थान पर अजय नारायण झा को इस आयोग का सदस्य बनाया गया था। भारत सरकार के एक्शन टेकन रिपोर्ट के साथ केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन इस रिपोर्ट को संसद में प्रस्तुत करेंगी। रिपोर्ट में साल 2021-22 से 2025-26 यानि 5 वित्त वर्षों के लिए सिफारिशें संकलित की गई है। 
साल 2020-21 के लिए 15वें वित्त आयोग की रिपोर्ट दिसंबर 2019 को राष्ट्रपति को सौंपी जा चुकी है। 
जिसे केंद्र सरकार की तरफ से एक्शन टेकन रिपोर्ट के साथ संसद में पेश किया गया था। 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार