4 फरवरी- बलिदान दिवस महायोद्धा तानाजी मालसुरे.. दक्षिण भारत से क्रूर मुगलों का संहार करते हुए वीरगति मिली तो छत्रपति शिवाजी बोले- “गढ़ आया पर सिंह गया”

इनका इतिहास बहुत कम पढने को मिलेगा आपको . असल में इनके इतिहास को वो कलमकार लिख भी नहीं सकते

Read more

मदरसों के बारे में मौलाना अरशद मदनी द्वारा बताया गया ये इतिहास क्या आप जानते थे ? और क्या आप इस से सहमत हैं ?

जैसे जैसे चुनाव नजदीक आने लगे हैं वैसे वैसे राजनेताओं के साथ साथ वो मजहबी मौलाना भी बोलने लगे हैं

Read more

लुटेरे बाबर की किताब “बाबरनामा” के झूठ से कई हिन्दू ही मान बैठे कि राणा सांगा ने बुलाया था हत्यारे बाबर को.. ये रहा असल सत्य

कई लोग ये कुप्रचार कर रहे हैं कि राणा सांगा ने बाबर को इबराहिम लोदी के विरुद्ध लड़ने के लिये

Read more

30 जनवरी- 80 घाव के बाद भी बाबर नाम के कलंक से लड़ते रहे धर्मरक्षक राणा सांगा बलिदान दिवस

इस वीर का सच्चा इतिहास अगर नकली कलमकार सामने रखते तो आज बाबर नाम के कलंक, लुटेरे, हत्यारे का मुकदमा

Read more

भगत सिंह की फांसी रोकने के लिए बहुत कोशिश की थी सुभाषचंद्र बोस जी ने.. पर कोई था जो उनका साथ नही दिया

बहुत कम लोग ही जानते होंगे ये पूरा इतिहास, शायद ही कोई जान पाया हो कि भगत सिंह के बलिदान

Read more

जन्मदिवस विशेषांक- क्रांतिकारी रोशन सिंह व अन्य वीरों की फाँसी के जिम्मेदार 2 गद्दार थे.. तसद्दुक हुसैन और मोहम्मद रजा

ये वो इतिहास है जिसे आज तक आप को कभी बताया नहीं गया था .. उस कलम का दोष है

Read more

14 जनवरी- पानीपत के तीसरे युद्ध में लुटेरे अब्दाली से लड़ कर राष्ट्र व धर्म की रक्षा हेतु हुतात्मा हुए हजारों मराठा सैनिकों को भावभीनी श्रद्धांजलि

निश्चित रूप से आज का दिन बहुत कम लोगो को पता होगा .. पता न होने की वजह ये है

Read more

6 जनवरी – 1947 में आज ही “कांग्रेस” ने स्वीकार किया था अखण्ड भारत का विभाजन जिसके बाद गिरी असंख्य लाशें व सबसे ज्यादा नुकसान हिंदुओं का हुआ

बहुत कम ही लोगों को याद होगा आज का दिन, खैर याद भी कैसे हो जब बताया ही नहीं गया

Read more

नामी विश्वविद्यालय के कुलपति ने भी माना भारत के गौरवमय इतिहास को.. प्रभु श्रीराम व श्रीकृष्ण के समय में आज से कहीं बेहतर था विज्ञान

ये भारत के इतहास का वो गौरशाली अतीत है जो अब प्रोफेसरों और अध्यापको के मुह से भी निकल रहा

Read more

3 जनवरी – जयंती वीर नरेश कट्टबोमन.. दक्षिण भारत पर उठती अंग्रेजो की आंख को फोड़ दिया और क्लार्क का सर काट कर झूल गए थे फाँसी

इनके भी इतिहास को जान बूझ कर छिपाया गया.. ये शौर्य व पराक्रम की वो गौरवगाथा थे जिनका जीवन ही

Read more