वो कौन है जो विदेशों में बदनाम करने की कोशिश कर रहा भारत को.. पहले फ़्रांस से और अब स्विट्जरलैंड से,,जिसमें बहाना लिया खेल का

हाल ही अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल विमान सौदे को लेकर तथ्यहीन आरोप लगाये थे तथा भारत व फ्रासं के मजबूत संबधों को बिगाड़ने की कोशिश की थी, जिसके बाद खुद फ़्रांस ने राहुल गांधी की बात का खंडन किया था. पहले फ़्रांस तो अब स्विट्जरर्लैंड को लेकर ऐसा ही मामला सामने आया, लेकिन इस बार बहाना लिया गया खेल का. हाल ही में खबर फैलाई गयी कि स्विट्जरलैंड की स्क्वैश खिलाड़ी एम्ब्रे एलिंक्स के माता पिता ने अपनी बेटी को भारत भेजने से इनकार कर दिया है क्योंकि उन्हें लगता है कि भारत में उनकी बेटी सुरक्षित नहीं होगी.

लेकिन अब ये खबर फेक तथा भारत को बदनाम करने वाली निकली है क्योंकि स्विट्जरलैंड की स्क्वैश खिलाड़ी एम्ब्रे एलिंक्स के माता-पिता ने अपनी सफाई में कहा कि उन्हें कभी भी भारत में सुरक्षा को लेकर कोई चिंता नहीं हुई जैसा कि मीडिया में प्रकाशित किया गया था. उन्होंने इस रिपोर्ट को ‘झूठ या पत्रकारीय खोज’ करार दिया. मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया कि एम्ब्रे ने सुरक्षा चिंताओं के कारण चेन्नई में आयोजित डब्ल्यूएसएफ वर्ल्ड जूनियर स्क्वैश चैंपियनशिप से हटने का फैसला किया था.इससे पहले खबर थी कि स्विस कोच पास्कल भुरिन ने कहा कि एम्ब्रे एलिंक्स इसलिए नहीं आई क्योंकि उसके माता पिता उसे इस दौरे पर नहीं आने देना चाहते थे.

भारतीय स्क्वैश रैकेट महासंघ की ओर जारी बयान में प्लेयर एम्ब्रे के माता पिता इगोर और वालेरी ने स्पष्ट किया कि ‘हम, माता-पिता होने के नाते कभी भी भारत में सुरक्षा को लेकर चिंतित नहीं थे. यह झूठ है या पत्रकारीय खोज है. उन्होंने कहा कि हम परिवार के साथ गर्मियों की छुट्टियां मनाना चाहते थे और उसके पिता के काम के कारण हम जुलाई में ही जा सकते थे. हमारे फैसले में सुरक्षा का कोई लेना देना नहीं था. एम्ब्रे पहले ही मिस्र, मोरक्को, ट्यूनीशिया, पोलैंड, फ्रांस, जर्मनी, चेक गणराज्य, इटली, मैक्सिको जा चुकी है. हमने कभी भी भारत को इन सभी देशों से ज्यादा खतरनाक नहीं समझा था. भारत के खूबसूरत देश है तथा तथा यहाँ आना आपने आप में बहुत अच्छा लगता है लेकिन व्यक्तिगत कारणों के कारण यहाँ न आने का फैसला किया क्योंकि हम अपनी बेटी के साथ गर्मी की छुट्टियां बिताना चाहते हैं.
Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *