ममता शासित बंगाल में सत्ताधारी TMC कार्यालय में फिर हुआ विस्फोट.. कितना सुरक्षित है बंगाल ?

ये वो समय है जब कोलकाता और पश्चिम बंगाल से ज्यादा वहां की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी व्यस्त हैं दिल्ली की राजनीति में और उस सम्भावित गठबंधन को तैयार करने में जिसकी मुखिया उनको भी बनने के आसार उनकी कथित धर्मनिरपेक्ष छवि के चलते दिख रहे हैं . लेकिन ठीक उसी समय उनके शासित बंगाल में चल रहा बारूद का एक ऐसा खेल जिस से उनका ही कार्यालय नहीं सुरक्षित है तो बाकी स्थलों की बात सोचना भी एक विचलित कर देने वाली बात होगी .

ध्यान देने योग्य है कि एक बार फिर से बंगाल में हुआ है एक ब्लास्ट वो भी सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस TMC के ही कार्यालय में . अभी हाल में ही मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि पश्चिम बंगाल न सिर्फ अवैध बंगलादेशी घुसपैठियों का गढ़ बना हुआ है अपितु वो स्थल अब धीरे धीरे रोहिंग्या की भी शरणगाह बनता जा रहा है . ऐसे तमाम मामलो में खुलासा तब हुआ जब एक बार फिर से पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में तृणमूण कांग्रेस (टीएमसी) पार्टी के कार्यालय में विस्फोट हुआ।

इस विस्फोट में कार्यालय का एक बड़ा हिस्सा उड़ गया, लेकिन इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ क्योकि मौके पर कोई भी इस ब्लास्ट की चपेट में नहीं आया । कंकड़ताला पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा, “बीरभूम जिले के कंकड़ताला में स्थित तृणमूल कांग्रेस के एक कार्यालय में सोमवार विस्फोट हुआ। विस्फोट में एक मंजिला इमारत का एक बड़ा हिस्सा ढह गया . इस मामले में पुलिस अधिकारी ने कहा, “घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। विस्फोट के कारणों का पता अभी नहीं चल पाया है।”घटना के तत्काल बाद राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो गया जिस से उस दिशा में ध्यान न जाए जो बंगाल ही नहीं बल्कि भारत की ही मूल समस्या बने हुए हैं .

Share This Post

Leave a Reply