भागवत कथा में मंच पर चढ़ कर फाड़ दी हिन्दुओ की पवित्र पुस्तकें. हमलावर का नाम शेख और घटना कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ की

इस घटना के बाद अचानक ही सवाल उठने लगेगे कि आखिर किस डर की बात कर रहे थे नसरुद्दीन शाह और उनका समर्थन करने वाले स्वघोषित बुद्धिजीवी और कथित सेकुलर क्यों उनकी हाँ में हाँ मिला रहे थे . कांग्रेस की सरकार अभी हाल में ही छत्तीसगढ़ में पूरे बहुमत के साथ रमन नेतृत्व की भाजपा को हरा कर बनी है लेकिन ऐसी उन्मादी घटना किसी के भी रोंगटे खड़े कर सकती है जहाँ एक बड़ी भीड़ में घुसे एक उन्मादी ने अचानक ही माहौल को दूषित कर दिया हो .

विदित हो कि ये सनसनीखेज और हैरान कर देने वाली घटना छत्तीसगढ़ के रायपुर की है . यहाँ के गंज थाना इलाके के चूनाभट्टी में चल रहे विशाल भागवत कथा के दौरान एक मुस्लिम युवक के द्वारा मंच पर हुड़दंग करने और धार्मिक आस्था से खिलवाड़ करने का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक रायपुर के गंज थाना इलाके में मंगलवार की देर रात शेख सर्वनाम के एक मुस्लिम युवक ने शराब पीकर सबसे पहले तो भगवत कथा में मौजूद लोगों से गाली-गलौज किया, उसके बाद मंच पर रखे हिन्दुओं के पवित्र धार्मिक ग्रन्थ और सामानों के साथ सर तोड़फोड़ किया।
इस पूरे मामले में गंज थाना पुलिस ने कार्रवाई करते हुए युवक को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं मौके पर मौजूद महिलाओं ने कहा कि उनके द्वारा भागवत कथा का आयोजन किया गया है, लेकिन मुस्लिम परिवार को यह पसंद नहीं आया, जिसकी वजह से यह व्यावधान किया गया है।  अब इस पूरे मामले में पुलिसकार्यवाही करके आगे सख्ती बरतने की बात कह रही है, लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर हिंदू आस्था से खिलवाड़ खुलेआम शहर में हो रहा है महिलाओं के साथ अभद्रता हो रही है तो ऐसे में ऐसे लोगों पर कार्रवाई क्यों नहीं होती और साथ ही इस पर वही बुद्धिजीवी अपने अंदाज़ में आवाज क्यों नहीं उठाते हैं ?
Share This Post

Leave a Reply