NIA के बाद अब UP पुलिस एक्शन में.. मुज़फ्फरनगर पुलिस ने 50 अवैध हथियारों को जब्त कर अफजाल को किया गिरफ्तार, निसार की तलाश जारी

पश्चिम उत्तर प्रदेश से आतंक और अपराध को खत्म कर देने पर आमादा केन्द्रीय एजेंसी NIA के साथ कदम से कदम मिला चुकी है उत्तर प्रदेश की पुलिस भी और आगे बढ़ कर उन तमाम लोगों पर नकेल कस रही है जो बने हुए थे समाज की शांति और सुख के दुश्मन . इसी क्रम में अब मुज़फ्फरनगर पुलिस ने एक बड़ी कार्यवाही करते हुए अवैध हथियारों के एक बड़े जखीरे के साथ अभियुक्तों को गिरफ्तार कर के जेल भेजा है और बड़ी अनहोनी को टाल दिया है .
अवैध हथियारों से मुज़फ्फरनगर को मुक्त करवाने के लिए जनपद मुजफ्फरनगर पुलिस के टारगेट पर आ चुके चुके है पुलिस ने अब अवैध हथियार बनाने वाले रखने वाले और सप्लाई करने वाले लोगों पर अंकुश लगाना शुरू कर दिया है  जिसके चलते साल 2018 के आखिरी दिन यानी 31 दिसंबर को एक ही दिन में जनपद में दो तमंचा फैक्ट्री व अलग-अलग थानों से लगभग 50 अवैध हथियारों के साथ दो दर्जन से भी ज्यादा लोग गिरफ्तार हुए हैं और नए साल 2019 में भी पुलिस को एक और बड़ी सफलता हाथ लगी है जिसमें पुलिस ने एक अवैध तमंचा फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है जिसमे पुलिस ने भारी संख्या में  बने और बने तमंचे व तमंचे बनाने के उपकरण बरामद हुए हैं और एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया  है जबकि उसका दूसरा साथी भागने में सफल रहा है जिसकी पुलिस तलाश कर रही है
दरअसल पिछले कई दशक से जनपद मुजफ्फरनगर अवैध तमंचा फैक्ट्रियों के संचालन को लेकर चर्चा में रहा है जनपद में थाना बुढाना का गांव जोला व मंडवाड़ा सहित कई गांव ऐसे हैं जिनमें अवैध असलाह बनाने को वहां के लोग कुटीर उद्योग के रूप में स्थापित कर चुके हैं हालांकि कुछ समय से पुलिस का दबाव बढ़ने के कारण इन लोगों ने अपना गांव छोड़कर दूसरे स्थानों पर अवैध हथियार बनाने शुरू कर दिए हैं इसी के चलते जनपद में लगातार अलग-अलग थाना क्षेत्रों में तमंचा फैक्ट्री पकड़ी जाती रही है मामला थाना तितावी क्षेत्र का है जहां सोमवार की शाम  पुलिस को मुखबिर द्वारा सूचना मिली थी कि गांव छतेला के जंगल में कुछ लोग अवैध तमंचे बनाने का काम कर रहे हैं इसी सूचना पर पुलिस ने रात में ही तमंचा फैक्टरी पर छापेमारी कर दी जिसमें तमंचा बनाने का एक आरोपी अफजाल पुत्र खचेड़ू निवासी गांव जौला को मौके से गिरफ्तार किया है जबकि उसका एक अन्य साथी तमंचा बनाने का मुख्य आरोपी निसार पुत्र अफलातून निवासी जोला पुलिस को चकमा देकर भागने में कामयाब रहा.
निसार की तलाश जारी है और बताया जा रहा है कि उसको जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा . छापेमारी के बाद मुज़फ्फरनगर पुलिस ने मौके से भारी मात्रा में बने व अधबने  तमंचे और तमंचा बनाने के उपकरण बरामद किए हैं . इस छापे में पकड़ा गया आरोपी अफजाल कई सालों से तमंचा बनाने के कारोबार में लिप्त है जबकि फरार आरोपी निसार तमंचा बनाने के आरोप में पहले भी जेल जा चुका है एसएसपी सुधीर कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में अब पुलिस पूरी तरह से अलर्ट है जिसमें जनपद में तमंचा बनाने के अवैध कारोबार से जुड़े लोगों पर पूरी तरह से अंकुश लगाया जा रहा है ताकि यह लोग जेल से बाहर आकर दोबारा यही कारोबार शुरू न कर दे इसके लिए कठोर कार्यवाही की जा रही है
Share This Post