गुंडों की तरह रोड पर करने लगे लड़ाई झगड़े……सपा के बाद एक और पार्टी उतरी गुंडागर्दी पर

समय रहते चेत जाना समझदार की निशानी है नितीश समझदारी का परिचय देते हुए बीजेपी का दामन थाम लिया। अचानक से शरद यादव का जाती प्रेम जाग गया और वो यादव जाती की राजनीति करते हुए नितीश से अलग होने का फैसला लिया। जिस तरह से अखिलेश की सपा गुंडागर्दी करने रोड पर उतर गयी है उसी तर्ज पर अब शरद यादव भी चलने की फ़िराक में है।

अब नीतीश कुमार और शरद यादव खेमे में दो फाड़ होती दिख रही है। गौरतलब हो की यह शरद यादव जो संसद में सुदर्शन न्यूज़ के ख़िलाफ़ चिल्लाते रहते है और अब सत्ता लोभ में इतना बह गए है की अपनी ही पार्टी के बटवारे में लगे है। बटवारे में सपा की तरह रोड पर उत्तर गए और आपस में लड़ गए। शरद अब भी अपने आप को अब भी महागठबंधन का हिस्सा समझ रहे हैं।
वहीं सीएम नीतीश कुमार के आवास पर हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में एनडीए में शामिल होने का प्रस्ताव पास हो गया। आपको ये भी बता दे की सीएम आवास के बाहर एकत्र शरद यादव और आरजेडी समर्थकों ने नीतीश के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान सीएम आवास के बाहर नीतीश और शरद समर्थकों के बीच भिड़ंत भी हो गई। हालांकि पुलिस ने बीचबचाव कर हालात काबू में कर लिया।
पटना में नीतीश कुमार और शरद यादव की सामानांतर बैठकों के बीच वहां सड़कों पर पोस्टर वार भी देखा गया। यहां नीतीश के पोस्टरों के जवाब में शरद समर्थकों ने भी पोस्टर्स लगवाए हैं, जिसमें लिखा है, ‘जन अदालत का फैसला, महागठबंधन जारी है।’ राजनीति इतने गिर गई है की लोग अब गुंडों तरह रोड पर उत्तर कर एक दूसरे से झगड़ा कर रहे है। राजनितिक का स्तर गिरा दिया है सत्ता लोभी चंद नेतावो ने। मलाई खाने की ऐसी आदत पड़ी की अब उस हांड़ी को छोड़ने का जी नहीं कर। 
Share This Post

Leave a Reply