हिन्दूवादी पति और भतीजे को गंवा चुकी भाजपा महिला विधायक के देवर पर भी UP पुलिस का कहर.. जीत कर दी थी वो सीट जहाँ कभी नहीं खिला था कमल

यही अम्बेडकरनगर था और यही वो पुलिस थी जब मुस्लिम बहुल इलाके टांडा में हिन्दुओ की एकमात्र आवाज उठाने वाले रामबाबू गुप्ता को गोलियों से छलनी कर दिया गया था . वो समय था समाजवादी पार्टी के शासन का और शासक थे अखिलेश यादव . जय श्री राम , हिन्दू , हिंदुत्व की आवाज में उस समय उत्तर प्रदेश की आवाज थे योगी आदित्यनाथ जो आज मुख्यमंत्री है और रामबाबू गुप्ता उनके ही संगठन हिन्दू युवा वाहिनी के टांडा क्षेत्र के प्रमुख थे . उनको लगातार धमकियां आदि मिल रही थी मौत की लेकिन ऊपर भगवान और नीचे योगी आदित्यनाथ जी को देख कर उनको जो मनोबल मिल रहा था उसके सहारे ही वो आगे बढ़ रहे थे .

उन्होंने किसी से कोई दुश्मनी नही की थी . वो तो केवल अपने मत और धर्म का प्रचार करते थे लेकिन न सिर्फ मजहबी चरमपंथियों को बल्कि उस समय के खास सोच के सहारे चल रहा प्रशासन भी इसको सही नहीं मान रहा था . रामबाबू गुप्ता की हत्या और उसके बाद उनके एक और पारिवारिक सदस्य की हत्या कैसे हुई और कौन कौन शामिल था उस हत्या में , किस किस को सजा मिली और किस किस को नहीं , ये आगे के दिनों में एक पूरी श्रृंखला चला कर सुदर्शन न्यूज़ विस्तार से बताएगा .  वो पहले आराम से रामबाबू की हत्या को होने तक खामोश रही और उसके बाद उनकी हत्या के गवाह उनके ही परिवार के एक और व्यक्ति की बेरहमी से हत्या हुई .. लेकिन तब सरकार समाजवादी पार्टी की थी .. लेकिन अब जो हो रहा है वो भारतीय जनता पार्टी की सरकार में हो रहा है और मुख्यमंत्री वही योगी आदित्यनाथ जी हैं जिनके दम पर कभी रामबाबू ने भगवा ध्वज थामा था .

समय के साथ बहुत कुछ बदला लेकिन अगर कुछ नहीं बदला तो वो है अम्बेडकर नगर पुलिस .. स्वर्गीय रामबाबू की पत्नी संजू गुप्ता देवी वर्तमान समय में भारतीय जनता पार्टी से विधायक हैं .. उस स्थान से भाजपा को वो सीट मिली है जहाँ से वो भगवान् श्रीराम की लहर में भी नहीं जीत पाई थी . जीत के बाद जब विधायक महोदया ने पीछे मुड कर देखा तो उनके पास परिवार के रूप में केवल एक देवर बचा था जो मजहबी चरमपंथियो के हाथो जिन्दा बच गया था . उनका नाम श्यामबाबू गुप्ता है , मतलब राम और श्याम में सिर्फ श्याम बचे हैं .. यहाँ ध्यान देने योग्य है कि दिवंगत रामबाबू की लाश पर पुलिस की मौजूदगी में तब पथराव हुआ था जब महिलायें लाश पर रो रही थीं .. उन सभी घटनाओ के तमाम प्रमाण मौजूद हैं जिसको सुदर्शन न्यूज वीडियो के साथ जल्द ही जनता को एक एक कर के दिखाएगा .

घर में २ लाशें गिरने के बाद रामबाबू गुप्ता लगातार मजहबी चरमपंथियों के निशाने पर रहे लेकिन उनको एक भी पल के लिए सुरक्षा नहीं मिली थी . हैरानी की बात ये रही कि तब की आंबेडकरनगर पुलिस ने उनके खिलाफ ही सडक पर लाश रखने का मुकदमा दर्ज कर लिया था . जबकि टांडा की वर्तमान पुलिस अधीक्षक महोदया शालिनी जी अपनी बांदा की तैनाती में खनन का काम करने वाले अफसार की मौत के बाद न सिर्फ सडक जाम करने वाले बल्कि उत्पात पर उतारू लोगों के खिलाफ शायद वैसी कार्यवाही नहीं कर पायी थीं. ये घटना नरैनी तहसील की थी जिसमे दोष एक SDM पर लगा दिया गया था . . उनका नेतृत्व समाजवादी पार्टी का एक नेता कर रहा था.  उस समय सडक जाम करने वालों, उत्पात मचाने वालों के खिलाफ कार्यवाही के बजाय SDM को ही कटघरे में खड़ा किया जा रहा था ..  यकीनन पुलिस अधीक्षक महोदया को याद होगा अन्यथा इसको जल्द ही प्रमाणों के साथ प्रस्तुत किया जाएगा .

विदित हो कि संजू देवी जी की जीत के बाद उनके व् उनके परिवार वालों के खिलाफ साजिशें कम होने के बजाय बढ़ गयी . जिस समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक अजीमुल हक पर उनका परिवार आज भी अपने परिजनों के नरसंहार का आरोप लगता है उसका कभी पल भर के लिए यही अंबेडकरनगर पुलिस बाल बांका तो दूर , पूछताछ तक नहीं कर पाई है. अब सुरक्षा देने के बजाय सूत्रों के अनुसार वही पुलिस रामबाबू के भाई श्यामबाबू के शस्त्र लाइसेंस को निरस्त करने की कार्यवाही आरम्भ कर चुकी है . सुदर्शन न्यूज जल्द ही इस परिवार के दर्द को विस्तार से बताएगा और साथ ही दिखायेगा प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उन बयानों को जो उन्होंने टांडा में रामबाबू गुप्ता की हत्या के बाद दिए थे . अपनी ही सरकार में अगर किसी जनप्रतिनिधि की दुर्दशा ठीक से देखनी है तो वो संजू देवी के हालत को देख कर समझ सकता है. सुदर्शन न्यूज के पास तत्कालीन चीख पुकार , चीत्कार के साथ साथ मृतक की लाशो को घसीटते हुए कानून के उन रक्षको के तमाम प्रमाण हैं जो खुलासा करेगा योगी की ही सरकार के प्रशासन में काम कर रहे उनके ही जनाधार को घटा रहे कुछ खास लोगों की करास्तानी का . यहाँ पर ये कहना कतई  गलत नहीं होगा कि ये सभी आने वाले 2019 में इसी क्षेत्र में चुनावी करवट का आधार बनेगा..

Share This Post

Leave a Reply