गिरनी शुरू हुई गाज उन सभी पर जो है रेल हादसे के ज़िम्मेदार…

रेलवे के अधिकारियों और कर्मचारियों की गैरजिम्मेदारी की वजह से हुआ हादसा। रेलवे की लापरवाही की वजह से लोगो की जान पर बन आयी। रेलवे ने बड़ी

कार्रवाई करते हुए चार अफसरों को सस्पेंड कर दिया है। इस हादसे में 21 लोगों की मौत और 97 के घायल होने की पुष्टि की है। बता दें कि शनिवार शाम उरी से

हरिद्वार जा रही उत्कल एक्सप्रेस खतौली में हादसे का शिकार हो गई थी।

इस मामले को गंभीरता से देखते हुए रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्रेन हादसे को लेकर जल्दी ही जिम्मेदारी तय कर कार्रवाई की बात कही थी। इसी मामले में सीनियर

डिवीजनल इंजीनियर, एसई, एई और जेई पर भी गाज गिर गई।

चीफ ट्रैक इंजीनियर नार्दन रेलवे का तबादला किया गया है। इसके साथ ही रेलवे बोर्ड के सदस्य

(इंजीनियरिंग) एवं जीएम उत्तर रेलवे और डीआरएम दिल्ली अवकाश पर भेज दिए गए हैं। बता दें कि पूरी से हरिद्वार जा रही उत्कल एक्सप्रेस खतौली की 12

बोगियां दुर्घटनाग्रस्त हुई थीं।

इस हादसे में घायल लोगो का मुजफ्फरनगर और मेरठ के अस्पतालों इलाज चल रहा है। हादसे में मारे गए 21 में से 20 लोगों की पहचान हो गई है। पोस्टमार्टम

के साथ शवों के डीएनए सैंपल भी लिए गए हैं। अभी तमाम रेलयात्रियों के गायब होने की बात भी सामने आ रही है। इस हादसे का कारण कॉशन बोर्ड का संज्ञान

नहीं लिया जाना भी बताया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि जहा यह हादसा हुआ वहा पटरी की मरम्मत का कार्य चल रहा था।यह सुचना सबको दी गयी थी कि

पटरी की मरम्मत के चलते गाड़ी की रफ़्तार धीमी रखे। इस घटना से पूर्व ही इस पटरी से दो रेलगाड़ियां गुजरी थीं, लेकिन उनकी रफ्तार धीमी थी।

लेकिन छतिग्रस्त हुई ट्रेन की रफ्तार 105 किलोमीटर प्रति घंटे बताई गई है। ज्यादा रफ़्तार होने की वजह से इतना बड़ा हादसा हुआ। पुलिस महानिदेशक बीके मौर्य

ने बताया कि हो सकता है वहा काम कर रहे रेलकर्मी या तो कॉशन बोर्ड लगाना भूल गए या ड्राइवर बोर्ड को देख नहीं पाए हो। लेकिन लापरवाही जिसकी भी हो

भुगतना बेगुनाहो को पड़ा। इस हादसे के बाद यह रुट बंद कर दिया गया है। इस हादसों की कार्यवाही के दौरान इस हादसे के जिम्मेदार अफसरों पर शिकंजा कसना

शुरू कर दिया। अपनी सफाई में रेलवे अफसरों ने ट्रैक की मरम्मत होने से इंकार किया। जबकि छानबीन के तहत घटनास्थल पर मिले उपकरण और चश्मदीदों के

बयान से यह साबित हो गया कि रेलवे अफसर अपनी गलती छुपा रहे है। 

Share This Post

Leave a Reply