Breaking News:

मैं तो कृष्ण भक्ति में खो चुकी हूँ, मैं नहीं देख सकती गर्दन कटते छटपटाते जीव… और अरसी खान ने ओड़ लिया भगवा

योगेश्वर श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा में एक मुस्लिम परिवार में पैदा हुई अरसी खान को बचपन से ही श्रीकृष्ण से लगाव हो गया. मजहब की तमाम बंदिशें भी अरसी खान को श्रीकृष्ण की भक्ति से डिगा नहीं सकी. श्रीकृष्ण की भक्त अरसी खान उस पल को देख दहल जाती जब कुर्बानी नाम पर निरीह जीवों को काटा जाता. फिर अरसी खान ने संकल्प लिया पूरी तरह से श्रीकृष्ण के बताये रस्ते पर चलने चलने का. आपको बता दें कि मथुरा की अरसी खान ने इस्लाम छोड़कर भगवा ओड़ लिया है अर्थात घर वापसी करते हुए हिन्दू धर्म को अपना लिया है.

हिन्दू धर्म अपनाने के साथ ही अरसी खान ने अपने ही परिवारीजनों से जान से खतरा होने पर सुरक्षा की गुहार एसएसपी मथुरा से लगाई है. गुरुवार को वकीलों के साथ एसएसपी कार्यालय पहुंची युवती ने बताया उसका लगाव शुरू से ही हिंदू धर्म और बांके बिहारी ज़ी में रहा. भले ही उसका नाम अरसी खान हो लेकिन वह शुरू से ही अपने आप को आरुषि मानती चली आ रही थी. अरसी खान ने बताया कि उसके परिवारी जन धर्म परिवर्तन को नहीं अपनाएंगे लेकिन इससे उस पर कोई फर्क नहीं पड़ता. उसने बताया कि उसका मन हमेशा बांके बिहारी जी के लिए समर्पित रहा है लिहाजा उसने मुस्लिम धर्म से हिंदू धर्म अपनाया है.

अरसी खान का कहना है कि मुस्लिम समाज में ईद के नाम पर करोड़ों पशु कुर्बान कर दिए जाते हैं लेकिन ऐसा ना करके कुर्बानी के लिए खरीदे गए पशु के बजाय बचे हुए पैसे समाज के कल्याण में लगाए जाएं तो तस्वीर बदल सकती है. अरसी खान ने कहा कि जहां मुस्लिम लोग गाय को काटते हैं मगर मैं किसी भी कीमत और गाय को कटने नही दूंगी. अरसी खान ने कहा कि वह किसी के दबाव में आकर हिंदुत्व नहीं अपना रही है. उसने कहा कि जब कोई बालिग अठारह वर्ष से ऊपर होने पर वोट डाल सकता है तो अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन भी कर सकता है. अरसी खान ने कहा कि एसएसपी उसे सुरक्षा प्रदान कराएं कि  उसके परिजन उसके साथ गलत कर सकते हैं.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *