एक और प्रदेश में कांग्रेस में मचा घमासान.. दो विधायक टूटकर ओढ़ लिए भगवा.

कांग्रेस पार्टी जहाँ पूरे देश में भारतीय जनता पार्टी को रोकने के लिए महागठबंधन बनाने का हर प्रयत्न कर रही है. देश की वर्तमान राजनैतिक स्थिति में देखा जाये तो कांग्रेस पार्टी को अपनी जीत से ज्यादा फ़िक्र इस बात की रहती है कि कैसे भी करके भारतीय जनता पार्टी को सत्ता में आने से रोका जाये. और ऐसा कर्नाटक विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद कांग्रेस पार्टी ने तीसरे नंबर की पार्टी के नेता कुमारस्वामी को सिर्फ इसलिए मुख्यमंत्री बनवा दिया ताकि भाजपा की सरकार न बन सके. लेकिन भाजपा को रोकने का हर प्रयास कर रही कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है पूर्वोत्तर के राज्य मणिपुर से जहाँ कांग्रेस पार्टी के दो विधायकों ने कांग्रेस को बाय बाय कह दिया है तथा भगवा ओढ़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं.

एकतरफ कांग्रेस महागठबंधन की कोशिश में लगी है, दुसरी पार्टियों के साथ गठजोड़ के प्रयास में लगी है लेकिन कांग्रेस खुद का अपना घर बिखर रहा है, खुद उसके विधायक टूट रहे हैं. जैसे जैसे कॉंग्रेस पार्टी अपना कुनबा बढ़ाने की कोशिश करती है, खुद कांग्रेस का कुनबा बिखर रहा है. हाल ही में गुजरात के एक विधायक ने भाजपा का दमन थामा था तो अब मणिपुर के दो और विधायकों ने भगवा ओढ़ लिया है. मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने पार्टी कार्यालय में लम्मले से विधायक के बीरेन और वांगजिंग से विधायक पी ब्रोजेन का पार्टी में स्वागत किया. इससे पहले गत 28 अप्रैल को कांग्रेस के चार विधायक और तृणमूल के एकमात्र विधायक भाजपा में शामिल हुए थे. चुनावों में भाजपा के 21 विधायक जीते थे और अब इस तरह पार्टी विधायकों की संख्या 30 हो गई है. कांग्रेस ने 28 सीटें जीती थी और अब उसके विधायकों की संख्या घटकर 20 हो गई है. मणिपुर में अब तक कांग्रेस के 8 विधायक हाथ को छोड़कर कमल को अपना  चुके हैं.

Share This Post

Leave a Reply