जानिए किस ने मारा था आगरा की संजलि को ? बेनकाब हुए अपराधी और पर्दाफाश उनका भी जो बो रहे थे जातिवाद का जहरीला बीज . आगरा पुलिस का शानदार कार्य

ये योगी शासन में बेहद सतर्क और चौकन्नी आगरा पुलिस ही थी जिसने समय रहते एक बेहद जरूरी खुलासे को कर डाला और करार जवाब दिया है एक मासूम बच्ची की मौत में जातिवाद के साथ अपने व्यक्तिगत स्वार्थो की सम्भावना तलाशते विकृत मानसिकता वाले लोगों को . वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक के नेतृत्व में आगरा पुलिस ने कानून रूपी अपने हाथ आख़िरकार असल अपराधियों के गिरेबान तक पहुचा ही दिए हैं..

ज्ञात हो कि जिस मामले में भीम आर्मी जैसे समूह जल्द खुलासे की मांग के साथ धरना प्रदर्शन आदि की चेतावनी जारी कर रहे थे अब उसी मामले में उन्हें अपने खुलासे से खामोश करवा दिया है आगरा पुलिस ने . मासूम संजलि की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि खुद उसके ही रिश्ते में भाई लगने वाले योगेश ने की थी . वो संजलि को एकतरफा प्यार कर रहा था ये भूल कर कि कम से कम हिन्दू समाज में ऐसे रिश्तों की कहीं से कोई भी जगह सामाजिक और कानूनी रूप से नहीं है .

इस मामले में संजली के भाई की मदद खुद संजलि के रिश्तेदारों ने की थी और मीडिया के आगे हल्ला मचा कर इसको जातिवादी रंग देने कि बाकी अन्य संगठन कोशिश करने लगे थे . इसका दुष्प्रचार खूब किया गया . जांच के दौरान पुलिस के हाथ योगेश का मोबाइल फोन लगा। इसमें आखिरी बार संजलि ने योगेश को मैसेज किया। उसने लिखा कि क्या तुमने ही पापा पर हमला किया था। बता दें कि 23 नवंबर को संजलि के पिता हरेंद्र पर हमला हुआ था।

Share This Post

Leave a Reply