जल्लादों को भी मात दे गये राबिया के हत्यारे… एक ने पकड़े थे पैर तो दूसरा अहिस्ता अहिस्ता निकाल रहा था जान

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद की रूबिया व फैजल के दोहरे हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. रूबिया की ह्त्या किसी और ने नहीं बल्कि उसके भाई तथा अन्य परिजनों ने ही की थी. पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गये रुबिया के भाई तथा पिता ने बताया कि उवैश ने पकड़े थे राबिया के पैर और दिलशाद ने गला घोटा था.  वहीं मीट कारोबारी रुबिया के प्रेमी फाजिल को शादी के बहाने बुलाया था तथा बाइक से ले जाकर रिश्ते के बहनोई के साथ फैज़ल की हत्या कर दी थी. रुबिया के पिता शमशाद ने खून से सने कपड़ों को ठिकाने लगाया था.

एसपी सिटी अंकित मित्तल ने पत्रकार वार्ता में डबल मर्डर का खुलासा किया. पकड़े गए हत्यारोपियों के नाम शमशाद, दिलशाद (पिता-पुत्र) निवासी करूला व उवैश (राबिया के रिश्ते का बहनोई) निवासी कुंदरकी बताए. राबिया के आचरण को लेकर परिवार वाले व ससुराली परेशान थे. आए दिन प्रेमी फाजिल के साथ गायब रहने पर ही हत्या की योजना बनाई थी. बताया फोन करके फाजिल को निकाह कराने व आरिफ से तलाक दिलाने की बात कहकर उसे करूला बुलाया था. बाइक से उसे उमरी सब्जीपुर तक ले गए थे. वहीं उसकी गर्दन में चाकू से ताबड़तोड़ वार कर मार डाला था. उवैश भी साथ में था. घर आकर राबिया को सोते समय उठाया। इसके बाद उसका भी गला घोटकर हत्या कर दी. सुबह दिल का दौरा पड़ने की जानकारी देकर शव को दफना दिया था.

मीट कारोबारी व फाजिल व सगी बहन की हत्या के बाद दिलशाद व उवैश घर में ही मोबाइल पर संगीत सुनते रहे थे. पिता को फोन पर ही फाजिल का काम तमाम करने की जानकारी दे दी थी. लिहाजा पिता शमशाद पहले से ही सतर्क था. घर आने पर शमशाद के कहने पर ही दिलशाद व उवेश बस द्वारा दिल्ली फरार हो गए थे. खून से सने कपड़ों को राबिया के पिता शमशाद ने घर के पास ही नाले में डाल दिया था. इसके साथ ही, फाजिल का मोबाइल फोन भी तोड़कर नाले में डाल दिया था. सुबह मोहल्ले वालों को दिल का दौरा पड़ने से राबिया की मौत की जानकारी देकर शव दफन कर दिया था.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *