सवाल हुआ – ‘बच्ची को कहाँ ले जा रहे हो” .. शराब पी कर बोला खालिद – “नहीं बताऊँगा”… फिर भीड़ को बना और बता दिया गया दोषी

जनता को एक बार फिर से दोषी बताये जाने की कोशिश कर्नाटक में की गयी .. एक रिक्शे पर एक रो रही बच्ची और उसके साथ उसका भावनाशून्य अब्बा . उसकी चीखो को सुन कर कुछ लोग दौड़ पड़े .. यद्दपि वो बच्ची और भी ज्यादा दूर से आ रही थी लेकिन उस से पहले जिन लोगों ने उस पर ध्यान नहीं दिया उनको तो सही माना जा रहा है पर जहाँ के लोगों ने अनहोनी समझ कर उसको घेर लिया उन्ही को ठहराया जाने लगा दोषी .

यद्दपि किसी भी प्रकार की हिंसा सर्वथा अनुचित है.. एक और मामले को भीड़ का अपराध घोषित करने का प्रयास तब हुआ जब कर्नाटक के मेंगलुरु में डेढ़ साल की बेटी के साथ जा रहे व्यक्ति को भीड़ बच्चा चोर समझकर जमकर पीटा। समय से और सटीक जगह पर पहुच कर पुलिस ने व्यक्ति को उस आक्रोशित भीड़ से बचाया जो उसे बच्चा चोर समझ रही थी . ये घटना कांग्रेस और जेडीएस शासित दक्षिणी कन्नड़ जिले में बेलथांगडी की है।

इस जिले में 30 साल का खालिद अपने बेटी के साथ ऑटोरिक्श़ा पर जा रहा था। बताया जा रहा है कि किसी और बात से क्रोधित खालिद अपनी उस मासूम डेढ़ साल की बच्ची को डांटता और मारता हुआ ले जा रहा था जिस पर बच्ची लगातार रोये जा रही थी . बच्ची का लगातार रोना कुछ लोगों के लिए शंका का विषय बन गया और मासूम बच्ची को पर रोता देखकर दो युवकों ने उसका पीछा किया। कुछ दूर जाकर युवकों ने खालिद के ऑटोरिक्शे को रोक लिया और उसे नीचे उतार लिया। जिसे बाद उन्होंने खालिद से पूछताछ की। यहाँ भी एक बार खालिद की अकड दिखी जब उसने किसी को भी कुछ भी बताने से इंकार कर दिया और उन लोगों से लड़ने के लिए तैयार हो गया . इतना ही नहीं खालिद उल्टा उन लोगों को ही धमकाने लगा और देख लेने की धमकी देने लगा.. खालिद का ये कृत्य वहां किसी को पसंद नहीं आया और उन्होने आपा खो दिया ..

इस हरकत से खालिद के ऊपर बच्चाचोरी का शक और बढ़ गया जिसके बाद युवकों ने उसे पीटना शुरु कर दिया। युवकों को पीटता देख कुछ लोकल लोग वहां आ गए। युवकों ने खालिद को बच्चा चोर बता दिया। जिसके बाद भीड़ ने भी उसे पीटना शुरु कर दिया।  खालिद को पीटता देख रिक्शेवाले ने उजैरे पुलिस स्टेशन को घटना की दी औऱ बच्चा चोर को पकड़ने की बात कही। मौके पर पहुंची पुलिस ने खालिद को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के बाद पता चला कि खालिद उस बच्ची का पिता है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि, खालिद चरमाडी का रहने वाला है। उस दिन शराब के नशे में खालिद अपनी पत्नी से झगड़ा करके अपनी बेटी को साथ लेकर घर ने निकल गया था।  घटना के रात खालिद को उसका भाई पुलिस स्टेशसन से उसे घर लेकर गया। फिलहाल इसे भीड़ का अपराध बताने पर कई लोग तुले हैं जबकि कुछ लोग इसको खालिद की जिद और युवको की जागरूकता बता रहे हैं .

Share This Post

Leave a Reply