कांग्रेस शासित कर्नाटक में हिन्दू समाज झेल रहा असहनीय पीड़ा… गौरी लंकेश मामले में कईयों को फंसाने के बाद अब गौतस्करी में बजरंग दल नामजद

कर्नाटक की भूमि वो भमि है जहाँ अनगिनत हिन्दू कार्यकर्ताओं को विधर्मियों द्वारा बेरहमी से सिर्फ इसलिए मारा काटा गया है क्योंकि वह धर्म पर्थ पर चल रहे थे तथा कर्नाटक को जिहादी तत्वों का केंद्र नहीं बनने देना चाहते थे. कर्नाटक की धरती उन अनगिनत हिन्दुओं के खून से सनी हुई है जो मजहबी उन्मादियों द्वारा इसलिए मार दिए गये क्योंकि वो हिन्दू थे तथा उन्हें आपने धर्म पर गर्व था, वो अपनी सनातनी सभ्यता, संस्क्रती की बात करते थे.

कर्नाटक की पिछली मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के नेत्रत्व वाली कांग्रेस की सरकार में हिन्दुओं को अंतहीन प्रताड़ना दी गयी. वामपंथी लेखिका, पत्रकार गौरी लंकेश की ह्त्या के आरोप में हिन्दुओं को फंसाया गया तथा तथा उन्हें प्रताड़ित किया गया. कांग्रेस सरकार की इसी हिन्दू विरोधी मानसिकता के कारण वहां की जनता उसके खिलाफ जनादेश दिया था लेकिन कांग्रेस के जेडीएस के साथ मिलकर जनता के जनादेश के खिलाफ जाते हुए राज्य की सत्ता हथिया ली तथा पुनः शुरू हो गया वही जो अब तक होता आया था. मुख्यमंत्री की गद्दी पर सिद्धारमैया के स्थान जेडीएस के कुमारस्वामी बैठ गये. राज्य का राजा तो बदल गया लेकिन नहीं बदली तो नीतियाँ क्योंकि सत्ता की चाबी कांग्रेस के हाथों में ही रही.

गौरी लंकेश हत्याकांड मामले में हिन्दुओं को प्रताड़ित करने के बाद एक बार फिर से कर्नाटक में हिन्दुओं को निशाने पर लिया गया है तथा इस बार राजजी सरकार ने सारी सीमायें पार करते हुए गौतस्करी के आरोप में बजरंग दल के कार्यकर्ता को गिरफ्तार कर लिया है,. खबर के मुताबिक़ कर्णाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में गौ तस्करी की आरोप में बजंरग दल कार्यकर्ता की गिरफ्तारी की गयी है. जिस बजरंग दल कार्यकर्ता की गिरफ्तारी की गयी है उसका नाम शशिकुमार है जो आपने क्षेत्र में गौ तस्करों के खिलाफ अभियान चला रहा था जो शायद जिहादी तत्वों तथा राज्य सरकार को पसंद न आया तथा बजरंग दल के कार्यकर्ता शशिकुमार को ही गौतस्करी की आरोप में गिरफ्तार कर लिया.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *