वो सेना में भर्ती की तैयारी भी कर रहा था और CRPF की पूरी बटालियन को उड़ाने के सपने भी देख रहा था.. लोग समझ रहे थे उसको एक देशभक्त

उसको सभी देशभक्त मानते थे तथा सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहा था. लेकिन किसी को ये नहीं मालूम था कि वह सेना में भर्ती क्यों होना चाहता है. सेना में भर्ती होने वाला हर नौजवान सपने देखता है कि वह सेना में जाएगा, वर्दी पहिनेगा, अपने देश की सुरक्षा करेगा तथा जरूरत पड़ी तो अपने प्राणों का बलिदान भी कर देगा. लेकिन इकबाल का सपना ये नहीं था बल्कि इकबाल तो सेना में जाकर CRPF की पूरी बटालियन को उड़ाना चाहता था.

मामला राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले की भादरा तहसील के गांव अनूपशहर का है. खबर के मुताबिक़, पुलवामा आतंकी हमले में 40  से ज्यादा जवानों के बलिदान के बाद अनूपशहर गाँव के इकबाल ने बलिदानियों के बारे में बेहद की शर्मनाक टिप्पणी की तथा कहा कि अगर वह होता तो 40 नहीं बल्कि CRPF की पूरी बटालियन को उड़ा देता. बता दें कि इकबाल सेना में जाने  की तैयारी कर रहा था. जानकारी मिलने पर स्थानीय लोग आक्रोशित हो गये तथा हंगामा शुरू कर दिया. सूचना पर पहुँची पुलिस ने जैसे तैसे मामला शांत कराया तथा आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.

स्थानीय हरनारायण शर्मा ने पुलिस को बताया कि इकबाल ने रविवार शाम को पुलवामा आतंकी हमले में बलिदान जवानों पर अभद्र टिप्पणी करी और भारत विरोधी बयान देते हुए कहा कि अगर वह भारतीय सेना में ज्वाइन कर लेता तो 44 शहीदों की पूरी सीआरपीएफ कंपनी को ही खत्म कर देता. हरनारायण शर्मा ने पुलिस को बताया कि आरोपी इकबाल कुछ समय से भारतीय सेना में भर्ती के लिए तैयारी कर रहा था तथा रविवार शाम को उसने ये टिप्पणी की. भादरा थानाप्रभारी पुष्पेंद्र झाझड़िया का कहना है कि आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है तथा उसको गिरफ्तार कर लिया गया है.

Share This Post