Breaking News:

7 साल पहले बंगाल से भागकर आयी थी वो प्यार के चक्कर में शहाबुद्दीन के साथ… हवस की आग बुझा रहा न सिर्फ पूरा परिवार बल्कि दोस्त भी

देश में बढ़ती बलात्कार की घटनाओं के बीच एक ऐसी सनसनीखेज घटना सामने आयी है जिसने न सिर्फ इंसानियत बल्कि इंसानियत को भी शर्मशार कर दिया. वो बंगाल छोड़कर शहबुद्द्दीन के साथ भागकर रेवाड़ी आयी ततः निकाह किया लेकिन इसके बाद जो हुआ वो काफी भयावह था. महिला के साथ न सिर्फ शहाबुद्दीन के परिवार वालों ने जबरन संबंध बनाये बल्कि सहाबुद्दीन के आपने दोस्तों को भी सौंप दिया तथा शहाबुद्दीन ने आपने बेटी के गुप्तांगों में उंगली डालकर उसको लहूलुहान कर डाला. मामला हरियाणा के रेवाड़ी का है. जानकारी के मुताबिक रेवाड़ी में रहने वाली बंगाल मूल की एक महिला ने रेवाड़ी सिटी पुलिस को दी गई शिकायत में पति शहाबुद्दीन पुत्र किनोरी निवासी कैराका पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उसकी शादी करीब सात वर्ष पहले हुई थी. उसको इस दौरान तीन बच्चे भी हुए. महिला की शिकायत पर रेवाड़ी पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर महिला का मेडिकल कराकर केस को नूंह पुलिस के पास भेज दिया है.

महिला ने पुलिस को बताया कि कऱीब तीन साल पहले उसके जेठ अलीम ने उसके साथ यौनाचार किया. जब महिला ने अपने पति सहाबुद्दीन को घटना बताई तो उसने उल्टा अपनी पत्नी को ही काटने की कोशिश की. महिला ने सरपंच महमूद के भाई के घर जाकर अपनी जान बचाई.  कुछ दिन बाद जब वह घर पर नहीं थी और कुछ देर बाद आई तो उसकी मासूम बेटी के गुप्तांग से बुरी तरह खून बह रहा था. उसने अपने पति सहाबुद्दीन को उस समय घर से भागते देखा.  महिला ने अपनी मासूम से इसका कारण पूछा तो उसने बताया कि उसके पिता ने ही उसके साथ गंदी हरकत की. महिला का आरोप है कि उसने डर की वजह से उस समय पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं कराई. कुछ दिन बाद पति उसे कमाने की नियत से गुरुग्राम चकाचौंध वाली दुनिया में लेकर गया. गुरुग्राम में एक दोस्त के साथ मिलकर पति ने पत्नी से गलत काम करवाया. पैसे कमाने के लिए महिला को दोनों ने खिलौना बना लिया.

 महिला का कहना है कि इसके बाड़ा उसने बंगाल से अपने पिता को बुलवाया और बंगाल मायके चली गई. कुछ दिन बाद पति बंगाल गया और पत्नी को बहला फुसलाकर ले आया. बंगाल से आने के बाद दोनों डूंगरपुर गांव में रहे. फिर पति-पत्नी को लेकर रेवाड़ी चला गया. रेवाड़ी में पत्नी को आपने एक अन्य दोस्त को बेच दिया. पति अपने गांव कैराका चला आया. कुछ दिन बाद एक आदमी उसे कार में लेकर गया, जहां पहले से चार लोग एक कमरे में मौजूद थे. सभी ने महिला की अस्मत लूटी. महिला के मुताबिक उस दिन कुल आठ लोगों ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाया. बलात्कार के बाद पति के दोस्त ने चार हजार रुपये रेप करने वालों से लिए और दोस्त ने भी रेप किया. महिला ने इसका विरोध किया तो जवाब मिला की तेरे पति से रुपए देकर खरीदा गया है.

पीड़िता के मुताबिक पति और उसके दोस्त ने उससे गलत धंधा करवाया। रेवाड़ी पुलिस ने शिकायत मिलते ही इसे गंभीरता से लिया और न केवल जीरो एफआईआर रेप, गैंगरेप, पॉक्सो एक्ट, जान से मारने की धमकी सहित अन्य धाराओं के तहत सिटी थाना में मामला दर्ज किया बल्कि एएसआई सुशीला ने पीड़िता का मेडिकल भी कराया. मामला मेवात से जुड़ा होने की वजह से एसपी रेवाड़ी ने केस नूंह पुलिस को जांच के लिए भेज दिया है. हैरानीजनक है कि पुलिस को शिकायत देने के बाद से पीड़ित महिला गायब है, जिसे पुलिस ढूंढने के प्रयास कर रही है। गैंगरेप पीड़ित महिला को खोजने के लिए नूंह पुलिस ने मामला दर्ज करते ही कैराका गांव की तरफ रुख किया, लेकिन पुलिस को महिला नहीं मिली.  नूंह पुलिस बैरंग लौट आई. एसएचओ अनिल कुमार ने कहा कि नूंह पुलिस जल्द ही महिला के बयान दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार करेगी

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *