भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष को फंसाने के लिए रची गई थी ऐसी साजिश जिसे जानकर होश उड़ जाएंगे

पिछले दिनों गुजरात में भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता तथा प्रदेश उपाध्यक्ष जयंतीभाई भानुशाली पर एक महिला ने जब उसके साथ बलात्कार करने का आरोप लगाया था तो राजनैतिक हलकों में घमासान छिड़ गया. विपक्षी दल भाजपा पर हमलावर हो गए. लेकिन आपको बता दें कि भाजपा नेता जयंती पर रेप का यह आरोप अब झूठा साबित हो चुका है. खबर के मुताबिक़ खुद पीड़िता ने पुलिस को चिट्ठी लिखकर कहा है कि उसने जयंती भानुशाली पर झूठा आरोप लगाया था.

जयंती भानुशाली के खिलाफ शिकायत करने वाली महिला का कहना है कि वह मानसिक तनाव में चल रही थी और इसी तनाव की स्थिति में उसने यह शिकायत दर्ज कराई थी. लेकिन अब महिला ने चिट्ठी लिखकर अपने आरोप को ही झूठा बताया है.
साथ ही महिला ने लिखा है कि जयंती भानुशाली के खिलाफ कोई कार्रवाई न की जाए. बता दें कि महिला ने 10 जुलाई को सूरत के पुलिस कमिश्नर को शिकायती चिट्ठी भेजी थी और जयंती भानुशाली पर रेप का आरोप लगाया था.  रेप के आरोप के बाद जयंती भानुशाली को पार्टी प्रदेश उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा तक देना पड़ा था. महिला का कहना था कि वह पिछले साल जयंती भानुशाली के संपर्क में आई थी. लड़की का कहना था कि फैशन डिजाइनिंग कोर्स कराने वाले कॉलेज में एडमिशन के लिए वह जयंती भानुशाली से मिली थी.

महिला ने यहां तक दावा किया था कि जयंतीभाई भानुशाली ने उससे वादा किया था कि वह उसे अहमदाबाद के किसी भी कॉलेज में एडमिशन दिलवा देंगे. शिकायत के अनुसार, पिछले वर्ष नवम्बर में जयंतीभाई ने महिला को अहमदाबाद बुलाया, जहां से उसे कार में गांधीनगर ले जाया गया और सुनसान जगह पर गाड़ी रोककर उसके साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया गया. लड़की ने शिकायत में यह भी कहा था कि उसके साथ दुष्कर्म का विडियो भी बनाया गया था और धमकी दी गई थी कि यदि उसने ये किसी से कहा तो उसके लिए अच्छा नहीं होगा. हालांकि शिकायत दर्ज कराने के बाद अचानक लड़की गायब हो गई. अब शिकायत दर्ज कराने के महज सप्ताह भर में दोबारा लड़की सामने आई है. हालांकि अब वह जयंतीभाई पर लगे अपने ही रेप के आरोप को झूठा बता रही है. अब पुलिस महिला से पूंछताछ करेगी क्योंकि भाजपा नेता पहले से ही ये आदेश जता रहे थे कि राजनैतिक साजिश के तहत उन्हें फंसाया जा रहा है.

Share This Post

Leave a Reply