संसार के लिए आदर्श है संभल जिले का धनारी थाना… इंसान ही नहीं गौमाता की भी कर रहा रक्षा

अगर आप उत्तर प्रदेश के संभल के धनारी थाना जायेंगे तो वहां के पुलिस को स्टाफ को धन्यवाद किये बिना नहीं रह पायेंगे. आप धनारी थाना पुलिस का न सिर्फ धन्यवाद करेंगे बल्कि आप वहां से एक नई प्रेरणा भी लेकर आयेंगे. धनारी थाना पुलिस संपूर्ण संसार के लिए वो आदर्श प्रस्तुत कर रही है जिसकी जितनी तारीफ़ की जाए, कम है. धनारी थाना सिर्फ इंसान ही नहीं बल्कि गौमाता की भी रक्षा कर रहा है. आपको बता दें कि धनारी थाने में गौशाला चलाई जा रही है. थाने में गायों के लिए ठहरने व चारा पानी का पूरा इंतजाम किया गया है. बिना किसी सरकारी सहयोग के गौसेवा के मिशन को थाना पुलिस अपने इंस्पेक्टर की अगुवाई में अंजाम दे रही है.

खबर के मुताबिक़, गोकशी पर सरकार के कड़े प्रतिबंध के बाद धनारी थाने के सामने सड़क पर तमाम गाय खड़ी रहती हैं. जिससे रोड पर गायों से एक्सीडेंट के कई मामले भी सामने आने लगे. जिसके बाद कोतवाल रविंद्र प्रताप सिंह ने गायों को थाने के अंदर खाली जगह पर खड़े बैठने की मुहिम शुरू कर दी. शुरू में गायों ने थाने के अंदर जाने में परेशान की. लेकिन बाद में थाने में कच्चे में बैठने की उनकी आदत बनने लगी. इसके बाद कोतवाल ने थाना परिसर में भुरभुरी मिटटी डलवा दी. अब गाय से आराम से थाना परिसर में मिट्टी में बैठी रहती हैं.

पुलिस की इस मुहिम से एक्सीडेंट में वाहनों से टकराने का खतरा खत्म होने के साथ गाय भी सुरक्षित हो गई. गायों को खाने के लिए पुलिस बिना किसी सरकारी सहयोग के चारे पानी आदि का भी इंतजाम करती है. हालांकि तमाम गाय दिन में चरने के लिए जंगल में भी चली जाती हैं. लेकिन शाम को वे लौटकर थाने में आ जाती है. थाने में गौशाला का आधिकारिक खुलासा बीते दिन सम्पूर्ण समाधान दिवस के मौके पर एसपी द्वारा गायों को देखने और उन्हें रोटी खिलाने के बाद हुआ. जिसके मौन संचालन के हीरो कोतवाल रविंद्र प्रताप सिंह निकले. सुदर्शन परिवार इस पुन्य कार्य के लिए धनारी थाना कोतवाल रविंदे प्रताप सिंह तथा संपूर्ण पुलिस के जवानों का हार्दिक धन्यवाद करता है.

Share This Post