Breaking News:

सबरीमाला के लिए निकलेगी रथयात्रा… भाजपा का एक और मंदिर अभियान दक्षिण भारत में

एक समय था अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि आन्दोलन के लिए कद्दावर भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी ने रथयात्रा निकाली थी. आडवाणी जी की इस रथयात्रा के देशभर के हिन्दुओं में एक नई चेतना का उदय हुआ था. एक बार पुनः भाजपा मंदिर के लिए ही रथयात्रा यात्रा निकालने वाली है. फर्क बस इतना है कि इस बार मंदिर राम जन्म भूमि न होकर सबरीमाला मंदिर है. केरल के सबरीमाला मंदिर में अब तक 11 साल से लेकर 50 साल की महिलाओंका प्रवेश वर्जित था. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर  लगी रोक हटा दी. हालांकि अब तक वहां के हिन्दुओं के विरोध के कारण महिलाएं मंदिर में प्रवेश नहीं कर पाई हैं. 6 दिन तक तथाकथित राजनैतिक महिलाओं ने सबरीमाला मंदिर में प्रवेश की कोशिश की लेकिन हिन्दुओं ने ऐसा नहीं होने दिया है.

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने साफ़ कर दिया है कि उनकी पार्टी सबरीमाला में श्रद्धालुओं के साथ खड़ी है. केरल सरकार का कहना है कि बीजेपी और आरएसएस कार्यकर्ता महिलाओं को मंदिर में प्रवेश नहीं करने दे रहे हैं. इसके लिए केरल पुलिस ने हजारों लोगों को मंदिर के पास से गिरफ्तार किया है. अब बीजेपी ने इसके विरोध में कहा है कि वह लेफ्ट सरकार के इस कदम का विरोध करेगी. केरल बीजेपी 8 नवंबर से राज्य में एक रथयात्रा शुरू करेगी. ये रथयात्रा कासरगुड से सबरीमाला तक शुरू होगी. हालांकि अब तक ये खुलासा नहीं हुआ है कि इस रथयात्रा में बीजेपी के कौन कौन से नेता शामिल होंगे.

केरल बीजेपी ने तय किया है कि वह सबरीमाला मंदिर में उन श्रद्धालुओं का साथ देगी, जो महिलाओं के प्रवेश का विरोध कर रहे हैं. इसके लिए वह 30 अक्टूबर को कई कार्यक्रम भी आयोजित करेगी. बीजेपी केरल अध्यक्ष पीएस श्रीधरन पिल्लई का कहना है कि राज्य में 4000 बेकसूर लोगों को पुलिस ने जेल में डाल दिया है. बीजेपी इसके विरोध में डीआई ऑफिस के सामने एक दिन की भूख हड़ताल करेगी. तिरुवनंतपुरम में डीआईजी ऑफिस के सामने ये भूख हड़ताल होगी. राज्य के बाकी के जिलों में सभी एसपी ऑफिस तक मार्च निकाला  जाएगा.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *