Breaking News:

उसे विश्वास था मोहम्मद साफी पर कि वो एक नेक इंसान है और छोड़ देगा उसको घर तक… लेकिन हुआ कुछ और ही

आखिर वो कौन सी सोच है जो नारी वर्ग को अपनी हवस की भूख मिटाने का साधन समझती है ? आखिर वह कौन सी सोच है जो – अपनी हवस की पूर्ति के लिए दरिंदगी की सारी हदें पार कर देती हैं ? ये सोच जहाँ अपनी दुराचारी जाहिल आदमियत वाली बहशी मानसिकता का शिकार जहाँ अपनी माँ की आयु की महिलाओं को भी बनाती है तो वहीं मासूम छोटी बच्चियों तक को भी बना लेती है. यही तो किया था मोहम्मद साफी ने जिसने एक नवविवाहित महिला को उसके घर छोड़ने के बहाने सूनसान जगह ले जाकर जबरन बलात्कार की घटना को अंजाम दिया.

नवविवाहिता से दुष्कर्म की ये घटना बिहार के सुपौल जिला के भीमपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत जीवछपुर गांव की है. बताया जा रहा कि पीड़िता हाट-बाजार करके पैदल घर की ओर लौट रही थी. रास्ते से गुजर रहे आरोपी युवक मो.मख्खन साफी ने खराब नीयत से पीड़िता को घर तक छोड़ने की बात कही. अनजान चेहरा देख कर पहले तो युवती ने साथ जाने से इन्कार लिया, तब आरोपी ने जान-पहचान का हवाला देते हुए उससे बाइक पर बैठने की गुजारिश की. इसके बाद बाइक सवार युवती को अंधेरे सुनसान रास्ते पर ले गया और उसके साथ जबर्दस्ती की. चीख-पुकार मचाने या किसी से शिकायत पर जान से मारने की धमकी दी. डरी-सहमी युवती उस वक्त तो चुप रही लेकिन घर आकर परिजनों से पूरा मामला बताया.

उसके बाद घरवालों ने पीड़िता को लेकर भीमपुर थाने पहुंची, जहां आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया. दूसरी ओर मामले में पुलिस के रवैया और दिलचस्पी नहीं दिखाने पर गांव वाले थाने पहुंच गये. थाने पहुंचने के बाद गांववाले धरने पर बैठ गये और आरोपि के गिरफ्तारी की मांग करने लगे. इस बात की सूचना जब आलाधिकारियों की मिली. अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद पुलिस हरकत में आयी और आरोपित को हिरासत में ले लिया है. वहीं, पीड़िता को मेडिकल के लिए अस्पताल भेज दिया है. पुलिस का कहना है कि मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्यवाही की जायेगी.

Share This Post

Leave a Reply