मासूमों के यातना केंद्र बनते कान्वेंट स्कूल..जबलपुर में छात्रा ने तीसरी मंजिल से लगाई छलांग..स्कूल का नाम लेनोर्ड और प्रिंसिपल का नाम मैडम लोबो

बेतहाशा पश्चिमी सभ्यता की नकल करने के चक्कर मे जगह समाज को भारतीय संस्कृति के हास के साथ नुकसान उठाना पड़ रहा है तो वहीं अब इसका असर उन मासूमो पर भी पड़ते दिख रहा है जो बेगुनाह और इन तमाम साजिशों से अंजान हो कर वहां पढ़ने चले जाते हैं जहां उनके माता पिता उन्हें भेज दिया करते हैं ..अब ऐसा ही मामला आया है मध्यप्रदेश के एक बड़े शहर जबलपुर से जहां स्कूल में मिली अंतहीन प्रताड़ना के चलते एक मासूम छात्रा ने खुद को मौत के हवाले करने की चेष्टा कर डाली है ..

सिविल लाइन स्थित लेनोर्ड हाई स्कूल में क्लास 8वी में पढ़ने वाली छात्रा ने 3 री मंजिल से कूद गई।घटना के बाद पूरे स्कूल में अफरा तफरी का माहौल बन गया।आनन फानन में स्कूल प्रबंधन ने छात्रा को ईलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती किया है जहाँ कि हालात गंभीर होने के चलते उसे नागपुर रेफर किया गया है।जानकारी के मुताबिक छात्रा का नाम छाया भिरानी है जिसे की स्कूल की टीचर उन्हें परेशान करती थी।आज भी जब छात्रा स्कूल पहुँची तो टीचर ने उसे सभी बच्चो के सामने मानिसक रूप से प्रताड़ित किया। इस स्कूल की प्रधानाध्यापिका का नाम मैडम लोबो है और शिक्षा पद्धति अंग्रेजी आधारित..

इसके कुछ ही देर बाद छाया स्कूल की तीसरी मंजिल पर जाती है और वहाँ से छलांग लगा देती है।लेनोर्ड स्कूल में हुई इस घटना की जानकारी जैसे ही जनता को लगी वो भी स्कूल पहुँच जाते है। युवा नेता जितिन राज ने स्कूल प्रबंधन पर लापरवाही और मानिसक रूप से छाया को प्रताड़ित करते का आरोप लगाया है। इस पूरे मामले से सामाजिक न्याय विभाग के मंत्री लखन घनघोरिया को अवगत करवाया गया है.  मासूम छााया के साथ हुई इस घटना के बाद से जहाँ स्कूल प्रबंधन अपने आपको बचाते हुए अपने वरिष्ठ अधिकारी से बात करने की बात कह रही है तो वही जबलपुर एसपी अमित सिंह ने भी इस मामले में जांच के आदेश देकर दोषियों पर कार्यवाही करने की बात कही है।

Share This Post