बहू बेटी के सामान होती है लेकिन क्या ये नियम हसन अंसारी पर लागू नहीं होता था ?

ये सार्वविदित सत्य है कि ससुर के लिए उसकी बहू अर्थात उसके बेटे की पत्नी उसके लिए बेटी के सामान होती है लेकिन क्या सोच सकते हैं कि कोई व्यक्ति अपनी पुत्रवधू के साथ बलात्कार करे? आखिर कौन इतना निर्लज्ज होगा कि वह अपनी बेटी समान पुत्रवधू की इज्जत को ही तार-तार कर दे? आखिर वो कौन सी सोच है जो अपनी हवस की भूख में सारे रिश्ते नातों तक की मर्यादा को भूल जाती है तथा अपनी बेटी सामान बहू के साथ बलात्कार को अंजाम देती है? सवाल ये भी खड़ा होता है कि आखिर रिश्तों की मर्यादा को कुचलने वाली ये सोच आती कहाँ से है तथा क्या ऐसी सोच से ग्रसित लोग इंसान कहलाने लायक हैं?

लेकिन ऐसी सोच बिहार के गोपालगंज के हसन अंसारी के पास थी जिसने आपने बेटे की गैरमौजूदगी में उसकी पत्नी अर्थात अपनी पुत्रवधू के साथ बलात्कार किया. बिहार के गोपालगंज जिला के भोरे थाना क्षेत्र अंतर्गत संसारपुर गांव के फुलवारी टोला में रिश्तों की डोर उस समय कलंकित हो गयी, जब एक ससुर ने अपनी ही बहू से दुष्कर्म की कोशिश की. आश्चर्य की बात ये है कि उसके इस कृत्य में उसकी पत्नी ने भी साथ दिया. इस घटना को तब अंजाम दिया गया, जब पीड़िता की माँ भी घर में मौजूद थी. इस मामले को लेकर पीड़ित महिला ने ससुर व सास के विरुद्ध स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी है. बताया गया है कि पीड़िता का पति मुंबई में नौकरी करता है, वह अपनी सास सोना खातून और ससुर हसन अंसारी के साथ रहती है. पति के बाहर रहने के कारण ससुर अपनी ही बहू पर बुरी नजर रखता था.

पीड़िता का कहना है कि कई बार उसने छेड़खानी भी की लेकिन जब उसने अपनी सास से इसकी शिकायत की तो उसने बहू को ससुर की बात मान लेने की सलाह दी. पीड़िता ने इसकी शिकायत अपनी मां से की. पीडिता की मां जब उसके घर मामले की जानकारी लेने पहुंची तो उसी रात ससुर बहू के कमरे में घुस गया और उसके कपड़े फाड़ कर उसके साथ गंदा काम किया. पीड़िता के शोर मचाने पर उसे तेजाब से जला देने की धमकी दी. सास ने भी मुंह बंद रखने की बात कही. इसके बाद पीड़िता ने स्थानीय थाने में इसकी प्राथमिकी दर्ज करायी है.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *