वीर सावरकर को भरी सभा में बोला “चोर और कायर” . उनकी राजनीति ने तोड़ दी सभी मर्यादा

मात्र कुछ कट्टरपन्थियो को खुश करने के लिए राजनीति अपने इतने निम्नतम स्तर पर गिर जायेगी ये किसी ने सोचा भी नहीं रहा होगा . जिस महान व्यक्ति ने अपने जीवन का एक एक पल राष्ट्र और धर्म की रक्षा के लिए समर्पित कर दिया उसको भरी सभा में चोर , डरपोक और कायर जैसे शब्दों से सम्बोधित किया गया .. ये वही मानसिकता है जो आतंकियों के मरने के बाद उनके लिए रहम और जिन्ना तक के लिए भारत की युनिवर्सिटी में जगह मांगती है .

जी हाँ , ये शब्द राहुल गाँधी के हैं जो आने वाले समय में भारत के प्रधानमन्त्री पद के सपने ले कर आगे बढ़ रहे हैं . राहुल गाँधी के ये शब्द न सिर्फ राष्ट्रभक्तो बल्कि हिंदुवादियो के भी सीने में नश्तर की तरह चुभ गये हैं . यहाँ ध्यान रखने योग्य है कि उन्होंने सिर्फ वीर सावरकर के लिए ही नहीं बल्कि भारत के प्रधानमन्त्री तक के लिए भरी सभा में मुट्ठी भर कट्टरपन्थियो को हंसाने के लिए ऐसे शब्द बोले जो किसी भी राष्ट्रीय दल के मुखिया को शोभा किसी भी हाल में नहीं दे सकते हैं .

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर के खिलाफ अभद्र टिप्पणियां की। प्रधानमंत्री को उन्होंने डरपोक, चोर और कायर तक कहा। उन्होंने कहा कि यह कायरता वाला डीएनए उन्हें सावरकर से मिला है जिन्होंने अंग्रेजों के आगे घुटने टेक दिए थे।

अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के अल्पसंख्यक मोर्चा के राष्ट्रीय अधिवेशन में दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में राहुल गांधी ने सम्मान सूचक शब्दों के बिना ही प्रधानमंत्री को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि आगामी चुनावों में हार का डर प्रधानमंत्री के चेहरे पर दिखाई देने लगा है। पहले लोग उनकी सभाओं में अच्छे दिन आयेंगे का नारा लगाते थे। अब वह चोकीदार चोर है के नारे लगाने लगे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री को सीधा नरेन्द्र मोदी संबोधित करते हुए कहा कि चीन डोकलाम में सेना भेजता है तो वह चीन जाकर उसके आगे हाथ जोड़ने लगते हैं। यह राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ है। ”नरेन्द्र मोदी कहते हैं कि उनकी 56 इंच की छाती है पर उनकी तो चार इंच की भी छाती नहीं है।”

राहुल ने कहा, ” मैं पांच साल से नरेन्द्र मोदी से लड़ रहा हूं। मैं उनका चरित्र समझ गया हूं। उन्हें मेरे सामने स्टेज पर खड़ा कर दो। बहस करा दो। नरेन्द्र मोदी भाग जाएगा। वह डरपोक व्यक्ति है जिसे मैं पहचान गया हूं। जब कोई उसके सामने खड़ा होता है वह भाग जाता है।” स्वतंत्रता सैनानी वीर सावरकर का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा कि गांधी जी 15 साल अंग्रेजों के आगे नहीं झुके और जेल में बंद रहे। वहीं सावरकर ने अंग्रेजों के आगे घुटने टेक दिए। यहां तक की सावरकर ने अंग्रेजों के पैर तक छुए। यही डीएनए भाजपा और नरेन्द्र मोदी में है। वह कायर और डरपोक हैं। कांग्रेसी शेर के बच्चे हैं और उन्हें देखते यह कायर भाग रहे हैं।

Share This Post