सुप्रीम कोर्ट के धारा 377 पर फैसले से कई मौलाना आज बहुत खुश होंगे क्योकि उनकी मनमांगी मुराद पूरी हो गयी- वसीम रिज़वी

अपने बेबाक बयानों के लिए पूरे देश ही नहीं वर्तमान समय में ईराक और ईरान तक विख्यात और धर्मनिरपेक्ष मुसलमानों के सबसे बड़े चेहरे के रूप में से एक उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी जी ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा धारा 377 हटाये जाने पर दी है अपनी त्वरित प्रतिक्रिया जिसमे उन्होंने निशाने पर लिया है मदरसों के उन मौलानाओं को जो छोटे छोटे बच्चो के साथ कुकर्म में लिप्त पाए गये हैं . 

सुदर्शन न्यूज को भेजे गये एक वीडियो में श्री रिज़वी ने कहा की आज धारा 377 पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अगर कोई सबसे ज्यादा खुश होगा तो वो होंगे मदरसे में पढ़ाने वाले मौलाना .. अपने बयान में आगे जोड़ते हुए वसीम रिज़वी जी ने कहा की इसमें कोई शक नहीं कि कई मदरसों में पढ़ाने वाले मौलाना अदि वहां पढने वाले बच्चो को न सिर्फ कट्टरपंथ का पाठ पढ़ाते हैं बल्कि उनके साथ कुकर्म किया करते हैं . 

अपने बयान को आगे बढाते हुए श्री रिज़वी ने कहा की आज उन तमाम मौलानानो को एक प्रकार से लाइसेंस जैसा मिल गया है . वसीम रिज़वी जी के इस बयान पर सोशल मीडिया में मिलीजुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है . तमाम लोगों ने इस बयान का समर्थन करते हुए कहा है की पिछले कुछ समय से जिस प्रकार से मदरसों के अन्दर इस प्रकार की घटनाए सामने आई हैं , रिज़वी जी का बयान उसी का एक संयुक्त निष्कर्ष है . यद्दपि इसी के साथ सोशल मीडिया पर कुछ कट्टरपंथी वसीम रिज़वी के खिलाफ कड़ी और बेहद जहरीली बयानबाजी भी करते दिखाई दे रहे हैं . 

Share This Post

Leave a Reply