गौ रक्षको के साथ खुल कर खड़ा हुआ बीजेपी का ये सांसद. खुले शबद में कहा – ‘गौ मां को हाथ लगाने से पहले हजार बार सोचें गौ हत्यारे”

भीड़ द्वारा कानून को हाथ में लेना किसी भी हाल में एक सभ्य समाज स्वीकार नहीं कर सकता और कानून अपना कार्य करता है लेकिन एक मुद्दे को हवा दे कर परोक्ष रूप से गौ हत्या की छूट चाहने वालों के खिलाफ भी अब कुछ ऐसे नेता हैं जो खुल कर अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं और गौ रक्षको को बदनाम करने की तमाम साजिशो को खुल कर बता रहे हैं . कल हैदराबाद के भाजपा विधायक टाइगर राजा सिंह के बयान के बाद अब भाजपा के पूर्व कद्दावर नेता और राज्यसभा सांसद के साथ कभी बजरंग दल के प्रमुख रहे श्री विनय कटियार जी ने साफ़ साफ़ कहा है कि गौ हत्यारों को गौ माता को हाथ लगाने से पहले हजार बार सोचना चाहिए . 

ये बयान उस समय आया है जब कई तथाकथित बुद्धिजीवियों ने गौ रक्षको के खिलाफ मुहिम छेड़ रखी है जिसकी आड़ में वो गौ हत्या तक को सही ठहराने की परोक्ष कोशिश करते दिख रहे हैं . ठीक उसी समय पर विनय कटियार का ये बयान गौ सेवको और गौ रक्षको के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं है . गोरक्षा के नाम पर अलवर में हुई हत्या पर एक से बढ़कर एक विवादित बयान गौ हत्यारों के समर्थन के बाद आने के बाद अब गौ रक्षको की तरफ से शुरू हो गये हैं नेताओं के बयान . भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता कटियार का कहना है कि मुस्लिम गाय को छूने से पहले कई बार सोचें. यह इस देश के करोड़ों लोगों की भावना का प्रश्न है.           

एक समाचार चैनल से बात करते हए बेहद संतुलित अंदाज़ में भारतीय जनता पार्टी के श्रीराम मन्दिर आन्दोलन काल से कद्दावर नेता माने जाने वाले विनय कटियार ने भले ही अलवर में हुई हिंसा को गलत बताया लेकिन उसके साथ ये साफ़ संदेश दिया है कि गौ हत्यारों को गाय को हाथ लगाने से पहले हजार बार सोचना होगा और ये याद रखना होगा कि गाय करोड़ों हिन्दुओ की आस्था का केंद्र बिंदु है जिसका दर्द हिन्दू समाज अपना दर्द मानता है .  विनय कटियार जी ने कड़वा सत्य बताया जिसमे उन्होंने कहा कि कानून की आंख में धूल झोंकने के लिए मुस्लिम समुदाय में कई ऐसे भी हैं जो गायों को पहले पालते हैं और बाद में उसी को काट देते हैं . फिलहाल सोशल मीडिया पर विनय कटियार जी के इस बयान का व्यापक समर्थन होता दिख रहा है और गौ रक्षको ने उनकी आवाज को अपने दिल की आवाज बताया है . 


 

Share This Post

Leave a Reply