बुलंदशहर ‘इज्तमा’ से सबक लिया तेलंगाना पुलिस ने और रद्द की हैदराबाद ‘इज्तमा’ की अनुमति. पाकिस्तानी समूह कर रहा था आयोजित जिसका खुला विरोध किया था BJP विधायक टी राजा सिंह ने

बुलंदशहर में इत्जेत्मा एक दौरान हुई तमाम अव्यवस्था को सुदर्शन न्यूज ने प्रमुखता से उठाया था . इसके बाद इसमें तमाम प्रकार की प्रशासनिक गलतियाँ सामने आई थी जिसको भले ही वहां के प्रशासन ने दबाने की कोशिश की हो लेकिन सुदर्शन न्यूज के लगातार खबर दिखाए जाने के बाद बुलंदशहर के जिलाधिकारी और बुलंदशहर के सांसद दोनों ने ये खुल कर स्वीकार किया था कि इजेत्मा में तमाम सरकारी आदेशो का उल्लंघन हुआ था . इसके बाद वहाँ के पुलिस प्रशासन पर गाज गिरी थी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से ले कर पुलिस अधीक्षक नगर , पुलिस अधीक्षक ग्रामीण, पुलिस उपाधीक्षक स्याना और स्याना चौकी प्रभारी का अन्य स्थानों पर तबादला कर दिया गया था . इसी दौरान उसी जिले में एक साम्प्रदायिक उन्माद बाल बाल बचा था .

अब बुलन्दशहर की घटनाओं से प्रेरणा लेते हुए तेलंगाना पुलिस ने हैदराबाद में प्रस्तावित इजेत्मा की अनुमति को रद्द कर दिया है . ये इजेत्मा पाकिस्तान के एक समूह द्वारा आयोजित किया जा रहा था जिसको ख़ामोशी से मूक सहमति दे रहे थे ओवैसी बंधू . बात बात में अपने जहरीले बयान जारी करने वाले ओवैसी बंधू इस मामले में खामोश थे जिस से लग रहा है कि वो कहीं न कहीं पाकिस्तानी समूह के इस आयोजन से संतुष्ट और खुश थे .

ध्यान देने योग्य है कि पाकिस्तान के कट्टरपंथी संगठन दावत ए इस्लामी हैदराबाद में एक कार्यक्रम आयोजित करने वाला था . इस आयोजन का वहां के भारतीय जनता पार्टी के विधायक टाइगर राजा सिंह ने खुला विरोध किया था और शासन से इसको रद्द करने की मांग की थी . राजा सिंह के कहा था कि ऐसे आयोजनों से दक्षिण के युवाओं में कट्टरपंथ बढ़ सकता है। आख़िरकार जनहित में निर्णय लेते हुए तेलंगाना पुलिस ने एक कथित पाकिस्तानी संगठन दावत-ए-इस्लामी को राज्य में दो दिवसीय मज़हबी सभा ‘इज्तमा’ के आयोजन की इजाजत देने से साफ़ साफ इनकार कर दिया है ।

पुलिस ने तमाम समूहों और लोगों के आवेदन को ध्यान में रखते हुए कानून व्यवस्था में खलल पहुंचने के आधार पर खारिज कर दिया है. पुलिस उपायुक्त अंबर किशोर झा के मुताबिक, संगठन को इस बात की जानकारी दे दी गई है। झा ने कहा, हालांकि मैं इस बारे में चिंतित नहीं हूं कि यह संगठन पाकिस्तान से है या नहीं। लेकिन मेरी चिंता यह है कि वर्तमान हालात ऐसे किसी बयान की अनुमति  नहीं देते, जो शांतिपूर्ण वातावरण को खराब कर दे। झा ने कहा, इसलिए हमने कानून एवं व्यवस्था के आधार पर आयोजन की अनुमति देने से इनकार कर दिया है।

Share This Post

Leave a Reply