सुदर्शन द्वारा रुजाजो गांव को गोद लेना बना पूर्वोत्तर की मीडिया की सुर्खियां… अखबारों ने प्रमुखता से छापा

राष्ट्र निर्माण संस्था के अध्यक्ष तथा सुदर्शन टीवी के चेयरमैन श्री सुरेश चव्हाणके जी द्वारा नागालैंड के रुज़ाजो गाँव को गोद लेने की हर तरफ तारीफ़ हो रही है. न सिर्फ नागालैंड बल्कि समस्त पूर्वोत्तर की मीडिया ने श्री सुरेश चव्हाण जी के इस कार्य की तारीफ़ की है तथा इसे अखबारों में प्रमुखता के साथ जगह दी है. नागालैंड के कई प्रमुख अख़बारों ने तो श्री सुरेश चव्हाणके जी द्वारा रुज़जो गाँव को गोद लेने की खबर को पहले पेज पर प्रमुखता से छापा है.

  

नागालैंड के प्रमुख अंग्रेजी अखबार अखबार ईस्टर्न मिरर ने रुज़ाजो गाँव की गोद लेने की खबर की हैडलाइन में लिखा है “रुजाजो अब हेरिटेज गाँव बनेगा”.. इस खबर में अखबार ने गांववालों के साथ श्री सुरेश जी की फोटो को प्रकशित किया है. द मोरंग एक्सप्रेस ने हैडलाइन में लिखा है “सुदर्शन न्यूज़ चैनल ने रुजाजो गाँव को गोद लिया”. इसके अलावा नागालैंड तथा पूर्वोत्तर के लोकल भाषीय अखबारों ने भी श्री सुरेश चव्हाणके जी द्वारा रुज़ाजो गाँव को गोद लेने की खबर से प्रमुखता से छापा है तथा इसके लिए सुरेश जी की सराहना की है. यही स्थानीय लोगों ने भी ऐतिहासिक रुज़ाजो गाँव को गोद लेने के लिए श्री सुरेश जी का धन्यवाद किया है.

  

आपको बता दें कि नागालैंड के फेक जिले में स्थित रुज़ाजो गाँव ऐतिहासिक गाँव है तथा इस गाँव के साथ राष्ट्रनायक नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की यादें जुडी हुई हैं. रुजाजो गाँव नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की आजाद हिन्द फौज द्वारा शासित पहला और एकमात्र गाँव है, जिसे श्री सुदर्शन राष्ट्र निर्माण ने गोद लिया है. रुजाजो गाँव में अपनी सरकार के गठन के समय नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने संकल्प लिया था कि देश की आज़ादी के बाद वह इस गाँव को गोद लेंगे तथा वह रुजाजो गाँव को स्वर्णिम गाँव बनायेंगे. हिंदुस्तान की आजादी के लिए नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने अपना जीवन समर्पित कर दिया था लेकिन अफ़सोस इस बात का है कि जिस रुजाजो गाँव में नेताजी की आजाद हिन्द फौज ने अपनी सरकार बनाई थी, वो गाँव आज भी बदहाल है.

आज़ाद हिन्द फौज के सैनिकों के परिजनों के द्वारा जब इस बात की जानकारी श्री सुरेश चव्हाणके जी को मिली तो उन्होंने संकल्प लिया कि जिस रुजाजो गाँव के जीर्णोद्धार की जिम्मेदारी नेताजी ने ली थी, उसको वह पूरा करेंगे. इसके बाद श्री सुरेश चव्हाणके जी 22 जनवरी की शाम को रुजाजो गाँव पहुंचे तथा 23 जनवरी को नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की 122वीं जन्मजयन्ती पर विशाल जनसमुदाय के बीच रुज़ाजो गाँव को गोद लिया तथा एलान किया कि अब सुदर्शन राष्ट्र निर्माण रुज़ाजो गाँव को बदहाली से निकाल कर नेताजी के सपनों का गाँव बनाएगा.

Share This Post