हमने जो भी फैसले लिए वो सब राष्ट्रहित के थे, हम उसकी हर कीमत चुकाने को तैयार, केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी

राजस्थान, मध्य प्रदेश तथा छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की हार के बाद केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बड़ा बयान दिया है. केन्द्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी ने कहा उन्होंने तथा उनकी सरकार ने जो भी फैसले लिए हैं, राष्ट्रहित में लिए हैं. श्री नितिन गडकरी जी ने कहा कि अगर राष्ट्रहित के फैसलों के कारण हमें सजा मिलती है तो इन फैसलों के लिए हम कोई भी कीमत चुकाने को तैयार हैं लेकिन हम राष्ट्रहित के फैसले लेने से पीछे नहीं हटेंगे.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को कहा कि उनकी सरकार नोटबंदी और जीएसटी जैसे सख्त फैसलों के लिए “राजनीतिक कीमत चुकाने” को तैयार है. हालाँकि उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि देश में कृषि संबंधी संकट है और ग्रामीण परेशानी में हैं लेकिन जल्द ही ये समस्या दूर हो जायेगी. नितिन गडकरी ने यह भी उम्मीद जताई कि 2019 के लोकसभा चुनावों के नतीजे हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों के परिणामों जैसे नहीं होंगे जिनमें बीजेपी को तीन राज्यों में कांग्रेस के हाथों हार मिली.

रिजर्व बैंक को लेकर नितिन गडकरी ने कहा कि रिजर्व बैंक सरकार का ही अंग है, इसलिए उसे सरकार के आर्थिक दृष्टिकोण का समर्थन करना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार ने एक संस्थान के रूप में रिजर्व बैंक को कभी कोई नुकसान नहीं पहुंचाया है. गडकरी ने जोर देकर कहा कि कुल मिलाकर केंद्रीय बैंक एक स्वतंत्र निकाय है लेकिन उसे सरकार के आर्थिक दृष्टिकोण का भी समर्थन करना चाहिए. उन्होंने यहां टाइम्स समूह द्वारा आयोजित आर्थिक सम्मेलन में कहा, ‘अगर हम आरबीआई की स्वायत्तता स्वीकार करते हैं, तो यह केंद्रीय बैंक की जिम्मेदारी है कि वह सरकार के नजरिये का समर्थन करे. हमने किसी भी रूप में उसे (एक संस्थान के तौर पर आरबीआई को) नुकसान नहीं पहुंचाया है.’

Share This Post

Leave a Reply