हैदराबाद को निर्दोषों के रक्त से लाल करने वाले दरिंदे सैयद व इस्माईल लटकाया जाएंगे फांसी पर. पूरे देश में सन्तोष की लहर

2007 हैदराबाद बम धमाके के दो दोषियों को मौत की सजा, एक को उम्रकैद.. दराबाद के दोहरे बम धमाके मामले में कोर्ट ने दो दोषियों को मौत की सजा सुनाई है। स्‍पेशल एनआईए कोर्ट ने अनीक सैयद और इस्‍माइल चौधरी को मौत की सजा सुनाई है। वहीं एक अन्‍य दोषी तारिक अंजुम को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। कोर्ट ने चार सितंबर को हैदराबाद के गोकुल चाट और लुंबिनी पार्क में 2007 में हुए दोहरे बम विस्फोट मामले में दो आरोपियों को दोषी करार दिया है, जबकि दो आरोपियों को बरी कर दिया गया है।

बता दें कि इस विस्फोट में 44 लोगों की मौत हुई थी। जबकि 68 लोग घायल हो गए थे। एनआईए कोर्ट ने इंडियन मुजाहिद्दीन के के एक कथित आंतकी तारिक अंजुम को अन्य आरोपियों को शरण देने के अपराध में दोषी ठहराया गया। जबकि वहीं दो और अन्य आरोपियों फारूख शरफुद्दीन और सादिक अहमद शेख को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया गया। जबकि पांचवें आरोपी पर फैसला अगले हफ्ते आएगा।

तेलंगाना पुलिस की काउंटर इंटेलिजेंस शाखा ने मामले की जांच की और पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया था। ये सभी इंडियन मुजाहिदीन के कथित आतंकवादी थे। एजेंसी ने पांचों आरोपियों के खिलाफ चार आरोप-पत्र दायर किए थे और दो फरार आरोपियों रियाज भटकल और इकबाल भटकल को भी नामजद किया था।

 

Share This Post

Leave a Reply