सेना काल बनी आतंकियों की तो NIA कहर बन कर टूट रही उनके आकाओं पर. कश्मीर में NIA ताबड़तोड़ छापे

आतंकी फंडिग के मामलों में राष्ट्रीय जांच एजेंसी का एक्शन लगातार जारी है. जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर, बारामूला और हंदवाड़ा के 12 जगहों पर छापे मारे हैं.

छापेमारी अभी भी जारी है. आतंकी फंडिग को लेकर अपनी जांच का दायरा बढाते हुए NIA ने श्रीनगर की दो जगहों पीरबाग और आलूचीबाग पर छापे मारे.

दोनों जगह बिजनेसमैन के यहां छापे मारे गए हैं. इनमें कारोबारी जहूर वटाली के ड्राइवर मोहम्मद अकबर के घर भी छापे मारे गए हैं.इसके अलावा तराहमा के

शफी के यहां भी छापे मारे गए हैं.

इन लोगों की अधिकतर संपत्ति दुबई, मुंबई, दिल्ली और चंडीगढ़ में है. कश्मीर में आतंकी फंडिंग का मुख्य सूत्र कारोबारी जहूर

वटाली है.

घाटी में गड़बड़ी फैलाने वालों के कथित फाइनेंसरों की लिस्ट में टॉप पर जहूर वटाली का नाम है. वटाली श्रीनगर में बागात बरजला का रहने वाला है. कहा जाता है

कि वटाली के अलगाववादी नेताओं के साथ भी अच्छे संबंध हैं. बता दें कि टेरर फंडिंग मामले में एनआईए की टीम अब तक कई अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार

कर उनसे पूछताछ कर चुकी है.

एनआईए ने करीब 20 दिनों तक अलगाववादी नेताओं से पूछताछ की थी.

पिछली सुनवाई में हुर्रियत नेता गिलानी के दामाद अल्ताफ फंटूश समेत मेहराजुद्दीन कलवाल, पीर सैफुल्लाह और नईम खान की हिरासत बढाते हुए इन सभी को

कोर्ट ने 28 अगस्त तक के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया है. बताते चलें कि एनआईए ने संगठन के प्रमुख सैयद अली शाह गिलानी और उनके परिजनों की 14

कथित संपत्तियों को चिह्नित किया है। इन संपत्तियों की कुल कीमत 100 करोड़ से 150 करोड़ रुपये के बीच बतायी जा रही है।

Share This Post

Leave a Reply