Breaking News:

पाकिस्तान से लगती भारतीय सीमाओं पर तेजी से बढ़ रही मुस्लिम आबादी.. कमोबेश यही हाल नेपाल सीमा पर भी

पाकिस्तान से सटी हुई भारतीय सीमाओं पर मुस्लिम आबादी काफी से बढ़ रही है तथा इन सीमावर्ती इलाकों में मजहबी कट्टरता भी काफी तेजी से बढ़ी है. ये बात हम नहीं कह रहे हैं बल्कि ये बात देश की रक्षक BSF की रिसर्च में सामने आई है. पाकिस्तान की सीमा से सटे राजस्थान के जैसलमेर जिला में मुसलिम आबादी बढ़ने के साथ कट्टरपंथ बढ़ने से सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की चिंता बढ़ गई है. BSF की इस रिपोर्ट के मुताबिक़,  इलाके में मुसलमानों की आबादी ही नहीं बढ़ी है बल्कि अरबी संस्कृति हावी होने के साथ यहां कट्टरता भी बढ़ी है. इस इलाके में काफी तेज गति से जनसांख्यिकी परिवर्तन हुआ है.

BSF ने अपनी ये रपोर्ट केन्द्रीय गृहमंत्रालय को भी भेजी है. बीएसएफ के इस अध्ययन में यह भी खुलासा हुआ है कि इन इलाकों के मुस्लिमों में धार्मिक कट्टरता भी तीव्र गति से बढ़ी है. अब यहां के मुसलमान राजस्थानी परंपराओं की बजाए अरब की परंपराओं को ज्यादा तवज्जो देने लगे हैं. इस इलाके में रहने वाले हिंदू तथा मुसलमान दोनों समुदायों के लोगों ने स्वीकार किया है कि अब उनके बीच पहले जैसी बातचीत नहीं हो पा रही है. मालूम हो कि इस इलाके में 20 से 25 प्रतिशत की गति से आबादी बढ़ रही है.

‘स्टडी ऑफ डेमोग्राफिक पैटर्न इन द बॉर्डर एरिया ऑफ राजस्थान एंड इट्स सिक्योरिटी इंप्लिकेशन’ के नाम से किए गए अध्ययन से यह भी खुलासा हुआ है कि इतनी तेजी से मुसलिमों की आबादी बढ़ने के कारण वहां के हिंदुओं में असुरक्षा का भाव बढ़ने लगा है. मालूम हो कि बीएसएफ समय-समय पर इस प्रकार का अध्यय करती रहती है ताकि सीमाई इलाके की सुरक्षा पुख्ता की जा सके. वैसे तो पूरे देश में ही मुसलमानों की संख्या बढ़ती जा रही, लेकिन जिस प्रकार पाकिस्तान से सटे सीमाई इलाके में इनकी जनसंख्या बढ़ रही है इससे सिर्फ बीएसएफ को ही नहीं बल्कि पूरे देश को चिंतित होने की जरूरत है. खैर BSF की ये रिपोर्ट तो सिर्फ पाकिस्तान से सटी सीमा की है लेकिन  नेपाल से सटी सीमा पर इस तरह से समुदाय विशेष की आबादी बढ़ने की खबरें भी सामने आई हैं.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *